Home » इंटरनेशनल » Pakistan will printing fake new indian currency using demonetised 500 1000 rupee note with help of nepal
 

नेपाल के रास्ते भारत के पुराने 500 और 1000 के नोटों का गलत इस्तेमाल करेगा पाकिस्तान

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 June 2018, 15:41 IST

पाकिस्तान को जिस तरह भारतीय नाकारा और मक्कार समझते थे वो तो एक दम चालाक और समझदार निकला. दरअसल, पाकिस्तान को भारत में हुई नोटबंदी से फायदा होने वाला है. इसके लिए पाकिस्तान ने तैयारियां कर ली है. पाकिस्तान पुराने 500 औैर 1000 रुपय के नोटों से नए भारतीय नोट बनाने जा रहा है.

इसके लिए पाकिस्तान ने नेपाल को अपना मोहरा बनाया है. पाकिस्तान इसके लिए नेपाल में फैले आईएसआई के जाल को इस्तेमाल कर रहा है. नेपाल बेहद सस्ते दामों में भारत में प्रतिबंधित हुई करेंसी को खरीदकर पाकिस्तान की दो प्रिंटिंग प्रेसों को भेजेगा.

इस बात को लेकर भारतीय जांच एजेंसियों ने दावा किया है कि पाकिस्तान बड़ी संख्या में नेपाल के रास्ते भारत में 8 नवंबर 2016 में प्रतिबंधित हुई 500 और 1000 रुपये की करेंसी को खरीद रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तानी खुफिया संगठन आईएसआई ने नेपाल में स्थित अपने स्मगलर्स की मदद ली है जिसके जरिए वह प्रतिबंधित करेंसी को करांची और पेशावर में स्थित प्रिंटिंग प्रेस में पहुंचाने का काम कर रहे हैं. 

गौरतलब है कि 8 नवंबर साल 2016 की रात 8 बजे नोटबंदी का ऐलान करते समय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि पाकिस्तान 500 और 1000 रुपये की नकली भारतीय करेंसी बनाकर आतंकी गतिविधियों को प्रायोजित कर रहा है. लिहाजा, नोटबंदी का फैसला इसलिए भी बेहद अहम है कि इससे दक्षिण एशिया क्षेत्र में आतंकवाद पर लगाम लगेगी, लेकिन ऐसा हो नहीं सका.

ये भी पढ़ेंः साढ़े 11 लाख Pan Card कैंसिल, ऐसे करें चेक कहीं आप भी तो नहीं शामिल

आज तक की खबर के मुताबिक, सूत्रों ने दावा किया है कि पाकिस्तान भारत में फिलहाल में प्रयोग हो रहे 50, 500 और 2000 रुपये की नई करेंसी की हूबहू नकल करने की तैयारी में है जिसके लिए उसने बड़ी संख्या में नोटबंदी के बाद हुई प्रतिबंधित करेंसी को खरीदने की तैयारी की है. इसके लिए नेपाल पाकिस्तान का साथ दे रहा है.

खुफिया विभाग का दावा है कि पाकिस्तान के जिन प्रिंटिंग प्रेस(करांची और पेशावर) में भारत की प्रतिबंधित करेंसी को भेजा जा रहा है उसी प्रिंटिंग प्रेस में पाकिस्तीन की करेंसी भी छापी जाती है. इसके अलावा इन दोनों प्रेस में पाकिस्तान भारत की करेंसी की नकल बनाने का काम भी करती रही है. मामले की गंभीरता को देखते हुए भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने सीमा पर तैनाती बढ़ा दी है और पुरानी करेंसी के देश से बाहर जाने की संभावनाओं पर अलर्ट भी जारी किया है.

First published: 8 June 2018, 15:41 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी