Home » इंटरनेशनल » Panama Papers: 11 highlights of Pakistan Supreme Court verdict against Nawaz Sharif
 

पनामा पेपर्स: नवाज़ शरीफ़ पर आए सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले की 11 बड़ी बातें

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 April 2017, 17:51 IST
(एएनआई)

पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के खिलाफ भ्रष्टाचार से जुड़े पनामा पेपर्स मामले में जांच का आदेश दिया है. दो महीने में जेआईटी (संयुक्त जांच टीम) को तफ्तीश पूरी करनी है. एक नज़र इस फ़ैसले की 11 बड़ी बातों पर:

11 अहम बातें

  1. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब नवाज़ शरीफ़ के ख़िलाफ़ भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जेआईटी और बारीकी से जांच करेगी.
  2. अदालत ने नवाज़ शरीफ़ को पद से हटाने से इनकार कर दिया. सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि उनके खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं हैं.
  3. सर्वोच्च अदालत ने जांच को आगे बढ़ाने के लिए एक संयुक्त जांच टीम (जेआईटी) बनाने का आदेश दिया है.  
  4. जेआईटी इस बात की भी जांच करेगी कि कैसे कतर में पैसे भेजे गए.
  5. जांच टीम में पाकिस्तान की कई एजेंसियों (FIA, NAB, SBP) के अफसर शामिल हैं. जेआईटी में मिलिट्री इंटेलिजेंस और ख़ुफिया एजेंसी आईएसआई के अफसर भी हैं.  
  6. सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि पांच जजों की बेंच के सामने हर दो हफ्ते पर स्टेटस रिपोर्ट पेश की जाए. 
  7. अदालत ने फैसला दिया है कि नवाज़ शरीफ़ के अलावा उनके बेटों हसन नवाज़ और हुसैन नवाज़ को जब भी ज़रूरत होगी जेआईटी के सामने पेश होना पड़ेगा. 
  8. सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की पीठ ने 540 पन्नों में अपना पूरा आदेश सुनाया है. 
  9. सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की बेंच ने 3-2 के अंतर से यह आदेश दिया है. इसका मतलब है कि अगर एक और जज नवाज़ के ख़िलाफ़ चले जाते, तो उनकी कुर्सी जानी तय थी.
  10. दो जजों का मानना था कि नवाज़ शरीफ़ देश के प्रति ईमानदार नहीं हैं, लिहाजा उन्हें अयोग्य ठहराया जाना चाहिए. 
  11. फैसले में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ने कहा कि नेशनल अकाउंटेबिलिटी ब्यूरो (NAB) के चेयरमैन अपनी ड्यूटी निभाने में नाकाम रहे हैं.
First published: 20 April 2017, 17:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी