Home » इंटरनेशनल » Paris stunned by an other terror attack Policeman and suspected gunman shot dead
 

पेरिस: राष्ट्रपति चुनाव से पहले आतंकी हमले में 2 की मौत, IS ने ली ज़िम्मेदारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 April 2017, 10:09 IST
(एएफपी)

फ्रांस की राजधानी पेरिस में राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले आतंकी हमला हुआ है. रविवार को यहां राष्ट्रपति चुनाव हैं. फ्रेंच मीडिया के मुताबिक सेंट्रल पेरिस के शां एलीजे में संदिग्ध हमलावर ने पुलिस की बस को निशाना बनाया.

पेरिस पुलिस के मुताबिक इकलौते हमलावर ने पुलिस वालों पर फायरिंग कर दी. हमले में घायल एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई, जबकि संदिग्ध हमलावर को भी सुरक्षाबलों ने मार गिराया है. फ्रेंच मीडिया का कहना है कि आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है. 

अमाक ने बताया IS का लड़ाका

पेरिस पुलिस के मुताबिक हमलावर की शिनाख्त हो गई है. इस बीच इस्लामिक स्टेट की समर्थक समाचार एजेंसी अमाक ने अपनी वेबसाइट पर बंदूकधारी को आईएस का लड़ाका बताया है. अमाक के मुताबिक हमलावर का नाम अबू यूसुफ अल बलजिकी है.

पेरिस पुलिस उसके घर और पड़ोस में तलाशी ले रही है. साथ ही पुलिस यह भी तफ़्तीश कर रही है कि हमले में क्या और भी आतंकी शामिल थे. पूरे फ्रांस में एंटी टेरर ऑपरेशन चलाया जा रहा है.

फाइल फोटो

दो साल में आतंकी हमलों में 238 की मौत

पेरिस के शां एलीजे इलाके में शहर की एक मुख्य सड़क को हमलावर ने निशाना बनाया. यह जगह हर वक्त विदेशी सैलानियों से गुलजार रहती है. फ्रेंच मीडिया के मुताबिक हमलावर एक कार से उतरा और उसने ऑटोमेटिक रायफल से पुलिस की बस पर फायरिंग कर दी. हमले में कुछ पुलिसकर्मी जख्मी भी हुए हैं. आतंकी हमले के बाद इलाके को सील कर दिया गया है.

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलांद का कहना है कि यह एक आतंकी हमला था. फ्रांस में कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकवाद एक बड़ी समस्या बनकर उभर रहा है. समाचार एजेेंसी एएफपी के मुताबिक पिछले दो साल के दौरान यहां हुए जिहादी हमलों में 238 लोगों की मौत हो चुकी है. 

रविवार को राष्ट्रपति चुनाव

फ्रांस में राष्ट्रपति चुनाव में 11 दावेदार हैं. हमले के बाद ज्यादातर ने अपना प्रचार अभियान खत्म कर दिया है. इस बार के चुनाव में आतंकवाद सबसे बड़े मुद्दों में है. दक्षिणपंथी उम्मीदवार मरीन ली पिन को इस बार जीत का मजबूत दावेदार माना जा रहा है. 

दुनिया भर में हमले की कड़ी निंदा हो रही है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, "हम फ्रांस के लोगों के साथ संवेदना जाहिर करते हैं. ये एक और आतंकी हमला था. हम क्या कह सकते हैं? ऐसे हमले रुकने का नाम ही नहीं ले रहे." इससे पहले फ्रांस में पिछले दो साल के दौरान शार्ली एब्दो मैगजीन के दफ्तर, पेरिस और नीस को निशाना बनाया जा चुका है.

First published: 21 April 2017, 9:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी