Home » इंटरनेशनल » PM Modi says after meeting with PM Phuc: The links between our societies go back over 2000 years
 

भारत-वियतनाम के बीच 12 समझौतों पर मुहर, पीएम मोदी ने हो ची मिन्ह को दी श्रद्धांजलि

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 September 2016, 12:18 IST
(पीएमओ ट्विटर)

पीएम नरेंद्र मोदी वियतनाम के दौरे पर हैं. हनोई में भारत और वियतनाम के बीच 12 अहम समझौतों पर दस्तखत हुए हैं. वियतनाम के प्रधानमंत्री के साथ उनकी द्विपक्षीय वार्ता के बाद इन समझौतों को हरी झंडी मिली है.

वियतनाम के पीएम गुयेन जुआन फुक और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच कई मुद्दों पर चर्चा हुई. इस दौरान रक्षा, सूचना प्रौद्योगिकी समेत कई क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने के लिए सहमति पत्र (एमओयू) और करार पर हस्ताक्षर किए गए. 

भारत देगा 50 करोड़ डॉलर का कर्ज

रक्षा क्षेत्र में दोस्ती बढ़ाने के लिए भारत ने वियतनाम को 50 करोड़ डॉलर के कर्ज का भी एलान किया है. इससे पहले राजधानी हनोई में पीएम मोदी का भव्य स्वागत किया गया.

हनोई में पीएम मोदी ने अपने वियतनामी समकक्ष से भी मुलाकात की. वियतनाम के बाद पीएम मोदी चीन के हांग्जो के लिए रवाना होंगे. यहां वे 4 और 5 सितंबर को जी-20 समिट में हिस्सा लेंगे.

पीएमओ ट्विटर

हो ची मिन्ह को श्रद्धांजलि

तय कार्यक्रम के मुताबिक पीएम मोदी ने सबसे पहले शहीद जवानों के स्मारक स्थल का दौरा किया. पीएम ने हनोई में ही 20वीं सदी के बड़े नेताओं में से एक रहे हो ची मिन्ह की समाधि पर श्रद्धांजलि दी.

इसके बाद वियतनाम के राष्ट्रपति भवन में पीएम मोदी का औपचारिक स्वागत किया गया.

हनोई में वियतनाम के बड़े नेता और पूर्व राष्ट्रपति हो ची मिन्ह को श्रद्धांजलि देते पीएम नरेंद्र मोदी (पीएमओ ट्विटर)
20 साल तक चले वियतनाम युद्ध में हो ची मिन्ह ने अमेरिका को पीछे हटने पर मजबूर कर दिया था. (पीएमओ ट्विटर)

2020 तक 15 अरब डॉलर के कारोबार का लक्ष्य

भारत-वियतनाम के टॉप 10 व्यापारिक सहयोगियों में से एक है. 2013 में दोनों देशों के बीच 5.23 बिलियन डॉलर का व्यापार हुआ था और पिछले साल की तुलना में इसमें 32.8 फीसदी की बढ़ोतरी हुई.

2014 में यह आंकड़ा बढ़कर 5.60 बिलियन डॉलर हो गया. इसमें भारत का निर्यात 3.1 बिलियन डॉलर और आयात 2.5 बिलियन डॉलर था. दोनों देशों के बीच 2020 तक 15 अरब डॉलर के कारोबार का लक्ष्य है.

वियतनाम के 111 प्रोजेक्ट में निवेश

भारत ने वियतनाम में 111 प्रोजेक्ट में निवेश किया हुआ है. इसमें करीब 53 करोड़ डॉलर की पूंजी लगी हुई है. भारतीय कंपनियों ने वहां तेल और गैस, खनिज उत्खनन, चीनी की फैक्ट्री, एग्रो केमिकल, आईटी सहित तमाम क्षेत्रों में निवेश किया है.

इनके अलावा टाटा ग्रुप को सॉकट्रांग प्रांत में 2.1 अरब डॉलर का थर्मल पावर प्लांट प्रोजेक्ट दिया गया है. वियतनाम ने भी भारत की तीन परियोजनाओं में कुल 2.6 करोड़ डॉलर का निवेश किया है. इनमें ओएनजीसी, एनआईवीएल, नगोन कॉफी, टेक महिंद्रा, सीसीएल शामिल हैं.

First published: 3 September 2016, 12:18 IST
 
अगली कहानी