Home » इंटरनेशनल » PM Modi in Israel: Joint statement of Modi and Netanyahu India-Israel ties are above sky limit reaching space
 

'भारत और इज़रायल के रिश्ते आसमान से ऊंचे अंतरिक्ष तक'

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 July 2017, 9:48 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इजरायल दौरे का आज दूसरा दिन है. इजरायल में पीएम मोदी का भव्य स्वागत हुआ. दौरे के पहले दिन पीएम मोदी को एयरपोर्ट पर रिसीव करने के लिए इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू एयरपोर्ट पहुंचे. 70 साल में ये पहला मौका है, जब कोई भारतीय पीएम इजराइल गया है.

दोनों नेताओं के लिए आयोजित डिनर से पहले एक साझा बयान जारी हुआ. इसमें आतंकवाद के मुद्दे पर पर मिलकर लड़ने की बात कही गई है. बेंजामिन नेतन्याहू ने योग के लिए पीएम मोदी की पहल की तारीफ़ की.

एयरपोर्ट पर नेतन्याहू ने पीएम मोदी का स्वागत अनूठे तरीके से करते हुए हिंदी में कहा, "आपका स्वागत है मेरे दोस्त." इसके बाद रात में इजरायली पीएम और उनकी पत्नी सारा नेतन्याहू ने मोदी के स्वागत में भव्य डिनर दिया.

मोदी और नेतन्याहू ने एक साझा बयान दिया, जिसमें नेतन्याहू ने मशहूर गणितज्ञ रामानुजन को याद करते हुए कहा, "हमारे मन में भारत के लोगों के लिए बहुत श्रद्धा है. मेरे चाचा स्वर्गीय प्रोफेसर एलिशा नेतन्याहू इजरायल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में गणितज्ञ थे. उन्होंने मुझे कई बार कहा था कि वो महान भारतीय गणितज्ञ रामानुजन का काफी सम्मान करते हैं. उनका कहना था कि रामानुजन 20वीं सदी के सबसे बड़े गणितज्ञ थे. इतना ही नहीं उनका कहना था कि रामानुजन पिछली कई सदियों के सबसे बड़े गणितज्ञ थे. ये भारत के लोगों की प्रतिभा का एक प्रतीक है."

 

आतंक के खिलाफ साझा लड़ाई पर ज़ोर

नेतन्याहू और पीएम मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ साझा लड़ाई पर भी जोर दिया. पीएम मोदी ने कहा, "जो लोग मानवता और सभ्यता के मूल्यों में विश्वास रखते हैं उन्हें एकजुट होकर आगे आना चाहिए और इनका किसी भी कीमत पर बचाव करना चाहिए." वहीं इजरायली पीएम नेतन्याहू ने कहा कि आतंकवाद से मुकाबला करने के लिए दोनों देशों को मिलकर खड़ा होना होगा.

पीएम मोदी ने अपने बयान में यरुशलम को याद करते हुए वाशेम मेमोरियल म्यूजियम का जिक्र किया. पीएम ने होलोकॉस्ट में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी. 1930 और 1940 के दशक में जर्मनी के तानाशाह हिटलर की नाजी सेना ने करीब 60 लाख यहूदियों को मार दिया था, जिसे होलोकॉस्ट कहा जाता है.

पीएम मोदी ने कहा, "यह मेमोरियल हमें कई पीढ़ियों पहले की उस खौफनाक घटना की याद दिलाता है, जिसने लोगों को इतनी पीड़ा दी. ये आप लोगों की उस अटूट भावना को भी श्रद्धांजलि है जो इतनी बड़ी त्रासदी से उबरने, नफरत पर विजय पाने के साथ ही इजरायल एक लोकतांत्रिक देश बनने में कामयाब हुआ." 

'भारत-इजरायल संबंध हजारों साल पुराने'

मोदी ने कहा कि दोनों देशों के लोगों के बीच जो संबंध हैं, वह हजारों साल पुराने हैं जब यहूदी पहली बार भारत के दक्षिण-पश्चिम तट पर उतरे थे. इस दौरान नेतन्याहू ने कहा कि भारत और इजरायल के संबंध आसमान से भी ऊंचे हैं. हमारे रिश्ते अंतरिक्ष तक हैं.

नेतन्याहू ने पीएम मोदी को दुनिया का महान नेता करार देते हुए कहा, "हम किसी भारतीय प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए 70 साल से इंतज़ार कर रहे थे." नेतन्याहू ने कहा, "हमें विश्वास है कि हमारी आपसी समझ हमारी साझेदारी की सफलता तय करेगी. हम 'मेक इन इंडिया' को 'विद माई मेक इन इंडिया' में बदलना चाहते हैं."

पीएम मोदी के इजरायल दौरे के दूसरे दिन 17 हजार करोड़ के रक्षा सौदों पर मुहर लगने की संभावना है, जिनमें 10 हेरोन टीपी ड्रोन को लेकर अहम करार की उम्मीद है. यह ड्रोन खुफिया जानकारी जुटाने में भी मदद करता है.

First published: 5 July 2017, 9:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी