Home » इंटरनेशनल » PM Modi meet Sri Lankan President Sirisena
 

पीएम मोदी ने श्रीलंका में राष्ट्रपति सिरिसेना से की मुलाकात

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 May 2017, 10:33 IST
PM Modi

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बृहस्पतिवार को श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना से मुलाकात की. इसके साथ ही पीएम मोदी ने श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति महिंद्रा राजपक्षे से भी मुलाकात की.

मोदी से मुलाकात करने के बाद श्री सिरिसेना ने कहा, "कोलंबो में इस महान इंसान से दोबारा मिलना बहुत अच्छा रहा. अंतरराष्ट्रीय वैशाख दिवस की शोभा बढ़ाने के लिए धन्यवाद."

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय दौरे के तहत आज यहां श्रीलंका की राजधानी कोलंबो पहुंचे. हवाई अड्डे पर प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे और अन्य वरिष्ठ मंत्रियों ने उनकी अगवानी की.

पीएम मोदी और विक्रमसिंघे इसके बाद वहां से सीमा मलाका मंदिर गए, जहां मुख्य पुजारी और अन्य पदाधिकारियों ने उनका स्वागत किया.

मोदी ने मंदिर की वेदिका पर पुष्प अर्पित किए. प्रधानमंत्री और विक्रमसिंघे ने वेसक दिवस की पूर्व संध्या पर दीप-प्रकाश समारोह का बटन दबाकर शुभारंभ किया. इससे वहां विभिन्न प्रकार के प्रकाश प्रज्वलित हुए और पटाखे फूटे.

राष्ट्रपति सिरीसेना के निमंत्रण पर श्रीलंका आए मोदी अन्य गणमान्य लोगों से भी मुलाकात करने वाले हैं. वह इस दौरान डिकोया में भारत की 50 करोड़ रुपये की सहायता से निर्मित डेढ़ सौ बिस्तर वाले एक मल्टी स्पेशियलिटी अस्पताल का उद्घाटन करेंगे.

श्रीलंका प्रवास के दौरान मोदी भारतीय मूल के तमिल समुदाय के लोगों से बातचीत करेंगे और बौद्ध धर्मगुरुओं से भी मिलेंगे. श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने वर्षों से दोनों देशों के बीच चले आ रहे द्विपक्षीय सहयोग की सराहना की.

भारतीय उच्चायुक्त तरनजीत सिंह संधु ने मीडिया से कहा, "मोदी के साथ राजपक्षे की बातचीत बहुत सौहार्दपूर्ण रही और वह भारत श्रीलंका के बीच वर्षों से चले आ रहे सहयोग पर प्रसन्न है."

उच्चायुक्त ने बताया कि मोदी ने राजपक्षे से मुलाकात उनके अनुरोध पर की है. इससे पहले राजपक्षे ने दावा किया था कि हो सकता है कि भारत और श्रीलंका ने आर्थिक सहयोग पर समझौते पर हस्ताक्षर मोदी के आने के ही पहले ही कर लिए हो.

राजपक्षे ने कहा, "मेरे पास जो सूचना है उसके अनुसार सारे समझौतों पर हस्ताक्षर पहले ही हो चुके हैं, ऐसे में भारतीय प्रधानमंत्री का आना या नहीं आना कोई मुद्दा नहीं है."

First published: 12 May 2017, 10:33 IST
 
अगली कहानी