Home » इंटरनेशनल » PM Modi reaches Osaka Japan to attending G20 summit to be held here
 

G20 सम्मेलन में शामिल होने के लिए जापान पहुंचे पीएम मोदी, ट्रंप और पुतिन से होगी मुलाकात

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 June 2019, 8:11 IST

जापान के ओसाका में शुक्रवार और शनिवार (28-29 जून) को होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए पीएम मोदी जापान पहुंच गए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी छठी बार इस बैठक में भाग लेंगे. 2022 में होने वाली जी-20 की बैठक मेजवानी खुद भारत करेगा. ओसाका में होने वाले इस सम्मेलन में पीएम मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रप और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन समेत कई देशों के अध्यक्षों मिलेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम ओसाका में भारतीय मूल के लोगों के साथ संवाद करेंगे. साथ ही अनेक नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठकों में भी भाग लेंगे. जिनमें से कई मौके पर विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर भी उनके साथ मौजूद रहेंगे. साथ ही दूसरे देशों के विदेश मंत्रियों से भी मुलाकात करेंगे.

बता दें कि ये पहला मौका है जब पीएम मोदी और विदेश मंत्री एक साथ किसी बहुपक्षीय बैठक में शामिल होंगे. जी-20 के के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक दर्जन से ज़्यादा द्विपक्षीय और बहुपक्षीय बैठकों में शामिल होंगे. ओसाका में पीएम मोदी की मुलाकात अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुअल मेक्रोन, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे, तुर्की के राष्ट्रपति एर्डोगन, सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान सहित कई नेताओं से होगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ओसाका में चीन के राष्ट्रपति शी निजपिंग और रूसी राष्ट्रपति पुतिन भारत-रूस-चीन के त्रिपक्षीय समूह RIC की भी बैठक करेंगे. सूत्रों के मुताबिक पीएम मोदी ने ओसाका में इस बैठक के आयोजन की पहल की है. इसके अलावा पीएम मोदी जापान-अमरीका-भारत के त्रिपक्षीय समूह JAI की बैठक में भी शामिल होंगे. जी-20 शिखर सम्मेलन के तहत होने वाले सभी कार्यक्रमों में पीएम मोदी शिरकत करेंगे.

गौरतलब है कि जापान पहली बार जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है. ओसाका शहर में हो रहे सम्मेलन में इस बार का विषय है मानव केंद्रित भावी समाज है. वार्ताओं के लिए तीन आधार स्तंभ तय किए गए हैं. जिनमें पहला, आयु परिवर्तन की चुनौती से मुकाबले की तैयारी, दूसरा, श्रम बाजार में लिंग अनुपात को ठीक रखान और तीसरा नए कामकाज के संदर्भ में राष्ट्रीय नीतियों और बेस्ट प्रैक्टिसेज का आदान-प्रदान करना शामिल हैं.

इस के अलावा जी20 सम्मेलन में वैश्विक अर्थव्यवस्था, कारोबार और निवेश, नवोन्मेष यानी इनोवेशन, पर्यावरण व ऊर्जा, रोजगार, महिला सशक्तिकरण, विकास और स्वास्थ्य जैसे मुद्दों पर भी चर्चा होगी. इसके साथ ही जी20 में जिन मुद्दों पर प्रमुखता से चर्चा होगी उनमें मुक्त व्यापार, आर्थिक विकास, वैश्विक अर्थव्यवस्था जिसमें वित्त व कर संबंधी मामले शामिल हैं, डिजिटल इकोनॉमी, आर्टिफिशल इंटेलीजेंस, समावेशी और सतत विकास वाली दुनिया, ऊर्जा और पर्यावरण, सोसाइटी 5.0, बेहतर गुणवत्ता का ढांचागत विकास, वैश्विक स्वास्थ्य, आयु वृद्धि, जलवायु परिवर्तन तथा समुद्र में बढ़ती प्लास्टिक की समस्या.

ये हैं G-20 में शामिल देश

जी-20 में भारत के अलावा अर्जेंटीना, आस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, यूरोपीय संघ, फ्रांस, जर्मनी, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मेक्सिको, रूस, सउदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, ब्रिटेन और अमेरिका शामिल हैं.

First published: 27 June 2019, 8:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी