Home » इंटरनेशनल » Pros & Cons of world's largest glass bridge in China
 

जानिए चीन में खुले दुनिया के सबसे बड़े और खतरनाक कांच के पुल की खूबियां-खामियां

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 26 August 2016, 17:02 IST

यूं तो पुल से गुजरते वक्त तमाम लोगों को डर लगता है. लेकिन चीन में कांच के फर्श वाला एक ऐसा पुल बनाया गया है जिसमें चलने पर 300 मीटर गहरी खाई आपके पैरों के नीचे दिखती है. अच्छे-अच्छे निडर लोग भी इसपर चलने से पहले एक बारगी घबरा जाते हैं.

चीन की समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक हुनान प्रांत स्थित चांगचियाचिए में दो पर्वतों को जोड़ता दुनिया का सबसे लंबा और सबसे ऊंचा कांच के फर्श वाला पुल जनता के लिए खोल दिया गया. 

माउंट एवरेस्ट नहीं है दुनिया का सबसे ऊंचा पर्वत!

हॉलीवुड फिल्म निर्माता जेम्स कैमरॉन की मशहूर 3डी फिल्म 'अवतार' की शूटिंग के स्थान पर बने दो पर्वतों को जोड़ने वाले इस पुल की लंबाई 430 मीटर (करीब आधा किलोमीटर) है. 

जमीन से 300 मीटर ऊंचाई (करीब 90 मंजिला इमारत) पर बने इस पुल का फर्श कांच का बना हुआ है जिससे आर-पार देखा जा सकता है. इस पुल की चौड़ाई 6 मीटर (करीब 20 फीट) है.

दुनिया के सबसे बड़े हवाई जहाज से तेज भागती है अपनी मारूति कार

तियानमेनशान नेशनल फॉरेस्ट पार्क का यह स्काईवॉक ब्रिज अपने आप में अनोखा है. इस पर फैशन शो आयोजित किए जाने की भी योजना बनाई गई है. जबकि इसे बनाते वक्त यह भी ध्यान रखा गया कि हवा चलने पर यह हिले नहीं. साथ ही सैकड़ों लोगों के इस पर एक साथ चलने पर इसमें पैदा होने वाला कंपन इसे नुकसान न पहुंचाए.

कई विश्व रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले इजरायल के आर्किटेक्ट हैम डोटान द्वारा डिजाइन इस अनोखे पुल पर एक वक्त में 800 लोग खड़े हो सकते हैं. 

दुनिया का सबसे महंगा स्मार्टफोन लॉन्च, जानें खूबियां

बताया जा रहा है कि यूं तो देखने में यह पुल काफी खतरनाक लगता है लेकिन हकीकत में यह खतरनाक नहीं है. इसकी सुरक्षा और मजबूती को अच्छी तरह जांचा-परखा गया है.

पुल पर कांच का फर्श बनाने के लिए तीन परतों वाले पारदर्शी कांच के 99 आयताकार हिस्सों का इस्तेमाल किया गया है. 

जानिए क्या हैं दुनिया के 5 सबसे खतरनाक नशे

खूबियां

  • यूं तो इस पुल को जनता के लिए खोलने से पहले इसकी अच्छी तरह जांच की गई है. चीनी अधिकारियों के मुताबिक पुल का कांच कितना सुरक्षित है इसकी जांच के लिए विशेषज्ञों द्वारा फर्श पर हथौड़े बरसाए गए लेकिन कुछ नुकसान नहीं हुआ. 
  • यह फर्श एक वक्त में कितना ज्यादा वजन सह सकता है इसके लिए लोगों से भरी एक एसयूवी कार को भी इस फर्श पर उतारा गया और फर्श में कुछ नहीं हुआ. 
  • लोहे की रस्सियों से दो पर्वतों के बीच लटकने वाले इस पुल के निर्माण में अत्याधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करने के साथ 34 लाख अमेरिकी डॉलर खर्च किए गए हैं.

दुनिया की 9 बेमतलब की बेशकीमती चीजें

खामियां

  • अगर खामियों की बात करें तो सबसे बड़ी खामी इसकी डिजाइन ही है. दरअसल यह पुल रोमांच पसंद करने वालों के लिए तो एक वरदान है. लेकिन कमजोर दिल वालों के लिए अभिशाप. विशेषज्ञों का मानना है कि ऊंचाई से डरने वाले, कमजोर दिल के लोगों को यहां खतरा हो सकता है. 
  • इसके अलावा इस पुल पर कोई बदनामी का दाग न लगे इसके लिए इस पर हर वक्त पुख्ता सुरक्षा के इंतजाम की भी बहुत जरूरत है. 

China inauguró este sábado un puente colgante con el suelo de vidrio no apto para personas con vértigo, suspendido a 300 metros del suelo en los espectaculares parajes del parque natural de Zhangjiajie, que inspiraron la película Avatar. El puente de seis metros de ancho está formado por 99 placas de vidrio transparentes y puede recibir simultáneamente a 800 personas, explicó la agencia oficial Xinhua. La estructura tiene un largo de 430 metros.Sin duda una aventura apta solo para atrevidos ¿Le gustaría atravesar esta formidable infraestructura? Deje su comentario y lea más detalles en www.elimpulso.com Fotos: AP #Actualidad #Puentedecristal #Máslargoyaltodelmundo #Turismo #China #Altura #Parque #Puentes #Zhangjiajie #Aventura #Vértigo #20Ago

A video posted by El Impulso (@elimpulso) on

First published: 26 August 2016, 17:02 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी