Home » इंटरनेशनल » Rape survivor walks the ramp for Pakistan fashion week 2016
 

पाकिस्तान गैंगरेप पीड़िता ने रैंप वाॅक कर कायम कर दी मिसाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 6:42 IST

14 साल पहले गैंगरेप के बाद बिना कपड़ों के लोगों के बीच घुमाई गई पाकिस्तानी महिला मुख्तार मार्इ आज लोगों एक बीच हिम्मत और हौसले की कहानी बन चुकी हैं. 

मंगलवार को उन्होंने कराची में फैशन पाकिस्तान वीक इवेंट में रेड-कारपेट पर रैंप वाॅक करके एक बार फिर साबित कर दिया है कि वो हौसले का दूसरा नाम हैं. उन्होंने फैशन मॉडल्स के बीच रैम्प पर चलने के पीछे की वजह बताते हुए कहा है कि 'यदि मेरे रैम्प पर चलने से एक महिला को भी मदद मिल सकती है, तो मुझे ये करके बेहद ख़ुशी होगी.' 

जब मुख्तार रैंप पर उतरी तो चेहरे पर थोड़ी घबराहट नजर आई. उन्होंने लाइट ग्रीन कलर का शर्ट और सिल्वर रंग का सिल्क का पायजामा पहना हुआ था, जिसे रोजिना मुनीब से डिजाइन किया था. 

माई ने कहा, 'मैं उन महिलाओं की आवाज बनना चाहती हूं जो उन परिस्थितियों से होकर गुजरी हैं, जिनका सामना मैंने किया. मेरी बहनों के लिए मेरा संदेश है कि हम कमजोर नहीं है. हमारे पास भी दिल और दिमाग है, हम सोच सकते हैं.' 

गौरतलब है कि साल 2002 में गांव की परिषद की ओर से दी गई सजा के तौर पर मुख्तार माई से सामूहिक बलात्कार किया गया था और उन्हें बिना कपड़ों के परेड कराई गई थी. मुख्तार के भाई (जो उस समय सिर्फ 12 साल का था) पर विरोधी कबीले की महिला से अवैध संबंधों का आरोप लगाया गया था. 

एक स्थानीय अदालत ने इस मामले में छह लोगों को सजा सुनाई लेकिन ऊपरी अदालत ने मार्च 2005 में इनमें से पांच को बरी कर दिया था और मुख्य अभियुक्त अब्दुल खालिक की सजा को उम्र कैद में बदल दिया था. सामूहिक बलात्कार का शिकार हुई मुख्तार महिला अधिकारों के लिए चलने वाले अभियान का प्रतीक बन गई हैं. 

First published: 3 November 2016, 9:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी