Home » इंटरनेशनल » Rockets strike Near US Embassy in Baghdad Iraq
 

बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर रॉकेट से हमला, किसी के हताहत होने की सूचना नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 February 2020, 11:12 IST

Rockets strike Near US Embassy: इराक (Iraq) की राजधानी बगदाद (Baghdad) में अमेरिकी दूतावास (US Embassy) पर एक बार फिर से हमला (Attack) होने की खबर है, बताया जा रहा है कि रविवार (Sunday) सुबह अमेरिकी दूतावास पर रॉकेट दागे (Rocket Attack) गए. अमेरिकी सेना (US Army) के सूत्रों द्वारा ये जानकारी मिली है. अमेरिकी सूत्र और एक पश्चिमी राजनयिक के मुतबिक, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि कितने रॉकेट दागे गए. साथ ही इस हमले में अभी तक किसी के हताहत (Death) होने की भी कोई खबर नहीं है. बता दें कि ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी (Qasem Soleimani) की हत्या के बाद अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर ईरानी सेना ने पिछले कुछ महीनों में कई बार हमला किया है.

वहीं एएफपी (AFP) के संवाददाताओं ने बताया है कि उन्होंने उच्च सुरक्षा वाले अमेरिकी दूतावास के ग्रीन जोन के समीप मंडरा रहे विमान से धमाकों की कई आवाज सुनी. यह हमला अमेरिकी दूतावास या इराक में स्थानीय बलों के साथ तैनात लगभग 5200 अमेरिकी सैनिकों को निशाना बनाकर किया गया है. पिछले साल अक्टूबर से अब तक का यह 19वां हमला है. लेकिन इन हमलों की कभी किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली. लेकिन, अमेरिका ने ईरान समर्थित समूह हशद अल शाबी पर इस हमले को लेकर संदेह जताया है.


बता दें कि पिछले साल दिसंबर में उत्तरी इराक में एक रॉकेट हमले में अमेरिका का एक ठेकेदार मारा गया था. अमेरिका ने इसके कुछ दिनों बाद पश्चिमी इराक में कट्टरपंथी हशद गुट के खिलाफ हमले किए. उसके  बाद बगदाद में अमेरिका के एक ड्रोन हमले में ईरान के शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी मारा गया. साथ ही सुलेमानी का दाहिना हाथ माने जाने वाले हशद के उपप्रमुख अबू महदी अल-मुहांदिस भी इस ड्रोन हमले में मारे गए थे. हशद गुट ने इन मौतों का बदला लेने की बात कही थी. हमले से कुछ घंटों पहले हशद के ईरान समर्थित एक गुट हरकत अल-नुजबा ने कहा था कि देश से अमेरिकी सेना को खदेड़ने के लिए उल्टी गिनती शुरू हो गई है.

बता दें कि कासिम सुलेमानी की मौत के बाद से शुरु हुआ हमलों का खेल खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. इसी साल जनवरी में भी अमेरिकी दूतावास पर रॉकेट दागे गए थे, उसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को चेतावनी देते हुए दोबारा हमला न करने की हिदायत दी थी. उन्होंने यह भी कहा था कि अगर फिर से हमले होते हैं तो ईरान को तबाह कर दिया जाएगा. वहीं ईरानी सेना ने पलटवार करते हुए कहा था कि अमेरिका में युद्ध करने का साहस नहीं है.

कोरोना वायरस से चीन में मरने वालों की संख्या 1,665 हुई, जापान के जहाज पर 355 लोग संक्रमित

सऊदी अरब ने की यमन में एयर स्ट्राइक, 31 लोगों की मौत, अपना विमान गिराए जाने का लिया बदला

भारत यात्रा से पहले बोले ट्रंप- मैं फेसबुक पर नंबर-1 और पीएम मोदी हैं नंबर-2

First published: 16 February 2020, 11:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी