Home » इंटरनेशनल » Catch Hindi: rockstar mother and rock star daughter
 

विश्व महिला दिवसः रॉकस्टार मां की रॉकस्टार बेटी

श्रिया मोहन | Updated on: 8 March 2016, 8:29 IST

कैरेन नुनिस ब्लैकस्टोन रॉकस्टार मॉम हैं. वो गायक, गीतकार और विजुअल आर्टिस्ट हैं. कैरेन मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर में रहती हैं. इस साल मई में वो 49 साल की हो जाएंगी. उनकी 20 वर्षीय बेटी बिली ब्लू ब्लैकस्टोन भी संगीतकार और गीतकार हैं.

कैरेन ने जीवन के करीब 22 साल अमेरिका, सिंगापुर और जापान में गुजारे हैं.

बिली का जन्म जापान में हुआ था. उन्होंने उनका नाम बिली ब्लू  इसलिए रखा क्योंकि उन्हें इसकी ध्वनि बॉब डिलन के नाम जैसी संगीतमय लगती थी.

पढ़ेंः खुश रहने वाली महिलाओं की उम्र उदास महिलाओं से ज्यादा नहीं होती

बिली जापान में पली-बढ़ीं. उनकी मां वहां संगीतकार और कलाकार के रूप में काम करती थीं. बिली के पिता स्थानीय यूनिवर्सिटी में पढ़ाते थे. वो खाली समय में दुनिया भर के संगीत इकट्ठा करते थे. वो बचपन से ही अपनी मां के शो और प्रदर्शनियों में जाने लगीं.

बिली ने टीन एज में गाना शरू कर दिया था. उन्होंने अपना पहला सार्वजनिक प्रदर्शन स्कूल के एक कार्यक्रम में किया था. बिली कहती हैं, "मुझे अब भी याद है, जब पहली बार स्कूल में मुझे सोलो परफार्मेंस करना था तो माइक पकड़े हुए मेरे हाथ कांप रहे थे." बिली अपने पहले प्रदर्शन में इतनी नर्वस हो गयीं कि वो तब गाना शुरू कर पायीं जब उनका साथ देने के लिए उनकी एक दोस्त स्टेज पर आयी.

कैरेन कहती हैं कि मां और बेटी के बीच भरोसे का आधार छोटी-छोटी बातों पर टिका होता है

बिली को ये समझने में थोड़ा वक्त लगा कि आपमें चाहे जितनी भी नैसर्गिक प्रतिभा या पैशन हो क्रिएटिव काम के लिए आपको धैर्यपूर्वक कड़ी मेहनत करनी होती है. बिली कहती हैं, "ये बहुत कड़वा सबक था लेकिन मेरे माता-पिता ने इसे आसान बना दिया." 

पढ़ेंः 7 महिलाएं जिन्होंने संभाली राजनैतिक विरासत

उनका परिवार 2012 में मलेशिया चला गया. वहां कैरेन ने बिली को सार्वजनिक रूप से गाने के लिए प्रेरित करना शुरू किया. 2013 की शुरुआत में उन्होंने अपना पहला पब्लिक शो किया. वो बताती हैं, "अभी भी कभी कभी मैं नर्वस होती हूं लेकिन अब मैं ज्यादातर समय आराम से परफार्मेंस कर लेती हूं."

संगीत से जुड़े भारतीय परिवारों में सभी लोग कमोबेश एक ही घराने से जुड़े होते हैं. लेकिन कैरेन और बिली के अंदाज अलग-अलग हैं.

कैरेन ब्लूज, जैज़ और फ़ोक लिखती और गाती हैं. वहीं बिली अपनी स्टाइल को फ़ोक रॉक और अमेरिकाना बताती हैं. दोनों के संगीत ही की तरह उनका व्यक्तित्व भी जुदा है. एक आग है तो दूसरी पानी. बिली कहती हैं कि वो एक थान के उन कपड़ों की तरह हैं जिनके रंग जुदा हैं.

बिली कहती हैं, "मेरी मां और मैं आम तौर पर अलग-अलग कार्यक्रम पेश करती हैं. हमारा अंदाज काफी अलग है. मेरी मां कभी मुझपर दबाव नहीं डालतीं. वो मुझे अपनी तरह के संगीत को चुनने और सीखने के लिए स्पेस देती हैं."

पढ़ेंः शनि शिंगणापुर: महिलाओं ने गर्भगृह में घुसने का मांगा अधिकार

कैरेन कहती हैं, "हम अक्सर साथ प्रदर्शन नहीं करते. हालांकि हम घर में अक्सर साथ गाते हैं. हम दोनों के बैंड और टीम अलग हैं. स्वतंत्र तौर पर काम करना बिली के लिए काफी अच्छा रहेगा."

कैरेन ने 1988 में संगीत प्रदर्शन शुरू किया था. तब से अब तक ब्लैक एंड ब्लू, द कैडिलैक्स, कैरेन नुनिस ब्लैकस्टोन और द ड्यूड्स जैसे कई बैंडों के साथ काम कर चुकी हैं.

कैरेन मानती हैं कि मातृत्व एक सहज अभिव्यक्ति है जिसमें निजी आजादी का अहम रोल है

बिली इस समय बिली ब्लू एंड द नोवेयर मेन बैंड के साथ काम कर रही हैं. वो द स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ न्यूयॉर्क से क्रिएटिव राइटिंग का ऑनलाइन कोर्स भी कर रही हैं. बिली कहती हैं, "ऑनलाइन कोर्स के लचीलेपन से मैं मलेशिया में रहकर संगीत का शौक भी पूरा कर पाती हं."

कैरेन नहीं मानती कि मां का काम बच्चों को 'ये करो वो न करो' सिखाना होता है. वो कहती हैं कि मातृत्व एक सहज अभिव्यक्ति है, जिसमें निजी आजादी का अहम रोल होता है.

पढ़ेंः समाज में ही नहीं ई-बे पर भी भेदभाव की शिकार हैं महिलाएं

कैरेन बताती हैं, "मैंने जब पहली बार बिली के संग परफॉर्म किया था तो मुझे लगा कि हम घर पर साथ गा रहे हैं. हमने बॉब डिलन का एक सॉन्ग परफॉर्म किया था."

कैरेन कहती हैं कि मां और बेटी के बीच इस भरोसे का आधार छोटी-छोटी बातों पर टिका है. वो दोनों शराब, ब्वॉयफ्रेंड और लेटनाइट पार्टी जैसे विषयों पर खुलकर बात करते हैं. कैरेन कहती हैं रिश्तों को मजबूत करने का सबसे अच्छा तरीका है कि जटिल विषयों पर भी खुलकर बात की जाए.

कैरेन चाहती हैं कि बिली अपनी जिंदगी की राह खुद चुनें. वो हंसती हुए कहती हैं, "शायद मैं परंपरागत माओं से अलग हूं."

इस महिला दिवस पर इन गैर-परंपरागत मां-बेटी को हमारा सलाम.

First published: 8 March 2016, 8:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी