Home » इंटरनेशनल » Russia Coronavirus Vaccine 'was approved after tests on only 38 people- Report
 

Russia Coronavirus Vaccine की सच्चाई जानकर उड़ जाएंगे आपके होश, मात्र 38 लोगों पर हुई जांच, सामने आए कई साइड इफेक्ट्स

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 August 2020, 17:29 IST

चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस के कारण अभी तक पूरे विश्व में 7 लाख  44 हजार से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं जबकि 2 करोड़ से अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. बीते साल दिसंबर में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था और करीब 8 महीने बीते जाने के बाद भी अभी तक इस वायरस की कोई वैक्सीन नहीं आई हैं. रूस ने दावा किया है कि उसने कोरोना वायरस की वैक्सीन बना ली है और उसने वैक्सीन का रजिस्ट्रेशन भी करा लिया है.

हालांकि, विश्व भर के वैज्ञानिकों को रूस के इस दावे पर भरोसा नहीं हो रहा है क्योंकि रूस ने वैक्सीन के ट्रायल, उसके परिणाम और वैक्सीन से जुड़ी कोई भी जानकारी साझा नहीं की है. वहीं अब डेली मेली की रिपोर्ट में इस वैक्सीन को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. रिपोर्ट में दावा किया गया है कि रूस में केवल 38 लोगों पर इस वैक्सीन का परिक्षण किया है और टेस्ट के दौरान कई साइड इफेक्ट्स भी सामने आए हैं.


मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, रूस के आधिकारिक दस्तावेजों से पता चलता है कि केवल 38 लोगों पर इस वैक्सीन का परीक्षण किया गया है और इस दौरान सामने आया कि जिन लोगों को यह वैक्सीन लगाई गई, उन्होंने दर्द, स्वेलिंग, हाई फीवर की तकलीफ, कमजोरी महसूस करना, एनर्जी की कमी, भूख नहीं लगना, सिर दर्द, डायरिया, नाक बंद होना, गला खराब होना और नाक बहने जैसी शिकायतें बताई हैं. Fontanka न्यूज एजेंसी के मुताबिक, क्योंकि वैक्सीन को केवल 42 दिनों की रिसर्च के बाद ही पंजीकृत किया गया, ऐसे में यह अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि वैक्सीन कितनी कारगर है.

खबर के अनुसार, वैक्सीन के रजिस्ट्रेशन के दौरान जो कागजात दिए गए, उनमें लिखा था कि कोरोना वायरस महामारी पर वैक्सीन के प्रभाव को लेकर कोई भी क्लिनिकल स्टडी नहीं हुई है. दूसरी तरफ रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने कहा है कि वैक्सीन सभी जरूरी टेस्ट में पास हुई है. इस वैक्सीन के लगने के बाद क्या व्यक्ति के शरीर में कोरोना से लड़ने के लिए जो एंटीबॉडी बनाई जा रही है क्या वो पर्याप्त है, सवाल इसको लेकर भी उठ रहे हैं. हालांकि, पुतिन ने कहा है कि उनकी बेटी को जब वैक्सीन लगाई गई तो उसने एंटीबॉडी को कसित कर लिया था.

रूस की Coronavirus Vaccine पर नहीं हो पा रहा है भरोसा, पढ़िए AIIMS के निदेशक ने क्या कहा

First published: 12 August 2020, 17:29 IST
 
अगली कहानी