Home » इंटरनेशनल » Russia warns on Syria missile attack its result is war america, France and Britain will be responsible for this
 

सीरिया पर मिसाइल हमले के जवाब में बोला रूस, युद्ध होगा इसका परिणाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 April 2018, 10:13 IST

अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने सीरिया पर हमला किया है. हमला राजधानी दमिश्क के आस पास के क्षेत्रों पर किया गया. हमले में राजधानी में मौजूद सीरियाई सेना और केमिकल रिसर्च सेंटर को निशाना बनाया गया था. सूत्रों के अनुसार सीरिया ने भी जवाबी हमला किया है. हमले के जवाब में रूस भी सामने आया है, रूस का कहना है कि पुतिन का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. एक रूसी दूत ने चेतावनी दी है कि हमले के परिणाम के लिए तैयार रहें.

उधर अमेरिका के डिफेंस सेक्रेटरी ने हमले से जुड़ी अपनी अपील में कहा, "समय आ गया है कि सभी सभ्य देश मिलकर सीरियाई गृह युद्ध को समाप्त करें और इसके लिए वो अमेरिका का साथ दें जिसे पहले से जेनेवा शांति प्रयास का समर्थन हासिल है." आपको बता दें कि सीरिया में ये गृहयुद्ध साल 2011 में शुरू हुआ था.

अमेरिका ने कहा हमले के अलावा और कोई विकल्प नहीं

पश्चिम एशियाई देश सीरिया में कथित तौर पर रसायनिक हथियारों का इस्तेमाल किया गया था. ये कथित रासायनिक हमला सीरियाई शहर डूमा में हुआ था. इसी के विरोध में अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने सीरिया पर मिसाइल दागे. इन देशों का मानना है कि सीरिया ने रासायनिक हथियार इस्तेमाल करके इन देशों के पास हमले के अलावा कोई विकल्प नहीं छोड़ा.

सीरिया में हुए कथित रासायनिक हमले के दौरान 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी. सीरिया ने केमिकल अटैक के पीछे अमेरिका का हाथ बताया था जिसके बाद अमेरिका ने संयुक्त रूप से सीरिया पर ये हमला किया है.

ट्रम्प की रूस को चेतावनी

सीरिया पर हमले को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने अपन बयान में कहा कि इसके लिए सीरिया सरकार को समर्थन और सैन्य सहायता दे रहा रूस ज़िम्मेदार है. रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अमेरिका और उसके सहयोगियों की इस कार्रवाई का परिणाम युद्ध हो सकता है.

सीरिया पर हुए हमले पर रूस की प्रत्रिक्रिया

इस मिसाइल हमले पर रूस ने जवाब देते हुए कहा है कि सीरिया पर ये हमला तब किया गया जब इस देश के पास शांतिमय भविष्य की उम्मीद थी. अमेरिका में रूस के राजदूत एंटोनी एंटोलोव ने कहा- हमने चेतावनी दी थी की ऐसे हमलों के परिणाम भुगतने पड़ेंगे. अब जो होगा उसकी ज़िम्मेदारी अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस की है.

हमले से जुड़ी जनकारी साझा करते हुए अमेरिकी जनरल डनफोर्ड ने कहा है कि अमेरिका ने इस हमले की जानकारी रूस को पहले से नहीं दी थी. आपको बता दें की रूस सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद का समर्थक है जो इस युद्ध की स्थिति में उसे और अमेरिका को आमने-सामने लाकर खड़ा करता है.

डनफोर्ड ने जानकारी देते हुए कहा कि सीरिया में अमेरिका ने इस तरह से हमला किया है कि रूसी ठिकानों को कोई नुकसान ना पहुंचे. आपको बता दें कि इन हमलों को लेकर रूस ने चेतावनी दी है और कहा है कि इनका परिणाम युद्ध हो सकता है.

बढ़ सकते हैं कच्चे तेल के दाम
सीरिया पर अमेरिका और उसके मित्र देशों की इस कार्रवाई के बाद अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ सकते हैं और भारत में भी पेट्रोल-डीजल महंगा हो सकता है.

First published: 14 April 2018, 9:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी