Home » इंटरनेशनल » Russian teacher sacked her job over Instagram swimsuit photos
 

इस टीचर ने सोशल मीडिया में शेयर की ऐसी तस्वीर कि चली गई नौकरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 June 2018, 17:18 IST

रूस की एक महिला टीचर को सोशल मीडिया में अपने फोटो शेयर करना महंगा पड़ गया. फोटो शेयर करने की वजह से इस टीचर को नौकरी से निकाल दिया गया. 26 साल की विक्टोरिया पोपोवा नाम की इस टीचर ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर स्विंग सूट में पहने फोटो शेयर किए थे.

विक्योरिया पोपोवा रूस के ओम्स्क के एक स्कूल में पढ़ाती हैं. कुछ दिनों पहले उन्होंने इंस्टाग्राम पर अपनी एक फोटो शेयर की थी. जिसमें वो स्विम सूट पहने हुई थीं. इस फोटो की वजह से उन्हें नौकरी से हाथ धोना पड़ा.

हनी नाइन की खबर के मुताबिक स्कूल ने बताया कि विक्टोरिया ने स्कूल और टीचिंग के पेशे को अपमानित किया है. हालांकि उनकी कुछ महिला सहकर्मियों ने इस बात का विरोध किया है. जिसके लिए उन्होंने स्विमिंग सूट पहने हुए अपने फोटो शेयर किए हैं.

इस विरोध को के चलते अब तक करीब तीन हजार लोग स्विमिंगसूट पहने हुए अपने फोटो शेयर कर चुके हैं और विक्टोरिया की बर्खास्तगी का विरोध कर रहे हैं. जिसके लिए उन्होंने #teachersarepeopletoo इस्तेमाल किया है.

बता दें कि ज्यादातर लोग स्कूल के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं. विक्टोरिया को लोगों का काफी समर्थन मिल रहा है. एक शख्स ने इंटरनेट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा है "ये पूरी तरह से दिखावा है. ऐसा करना मूर्खता है और बेहद अपमानजनक भी है."

Этим летом я ещё не купалась в открытых водоёмах, поэтому решила загрузить это фото прошлых лет, чтобы поддержать общероссийский флешмоб #учителятожелюди Я считаю увольнение учительницы из Омска за фото в купальнике возмутительным примером ханжества, лицемерия, тупости, беззакония и маразма, царящих в различных организациях в нашей стране, а в системе образования особенно! Мы учителя, но мы тоже люди, поэтому имеем право выглядеть по-разному вне школы и в своих социальных сетях. #учителя #учительвкупальнике #учителяроссии #учитель #учителятожелюди #поддержимвикториюизомска #фотовкупальнике #поддержкаучителей #учительотдыхает #нетмаразму #нетлицемерию #нетханжеству

A post shared by Yulia Makarova (@julijamakarova1984) on

इसी विरोध के चलते एक महिला टीचर ने लिखा, "हम टीचर हैं लेकिन हम इंसान भी हैं. हमें भी हक है कि हम स्कूल के बाहर या फिर सोशल मीडिया पर अगर अलग दिखना चाहें तो दिखें." एक अन्य व्यक्ति ने इस फैसले को पूरी तरह बेवकूफी वाला बताया है.

वहीं स्विमिंगसूट में टीचर की तस्वीर वायरल होने के बाद ओम्स्क प्रांत की सरकार ने घोषणा की है कि विक्टोरिया काम पर वापस लौट सकती हैं. सरकार की ओर से कहा गया है कि "विक्टोरिया के भविष्य का फैसला हो गया है, अब ये उन्हें तय करना है कि क्या वो इसी स्कूल में पढ़ाना चाहती हैं या फिर किसी दूसरे स्कूल में."

First published: 14 June 2018, 17:15 IST
 
अगली कहानी