Home » इंटरनेशनल » S-400 air defence deal: Donald trump says India will soon know the USA decision on this deal
 

S-400 डील पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने इशारों में दी धमकी, भारत पर लगा सकता है बैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 October 2018, 11:09 IST

भारत और रूस के बीच S-400 डील को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं. हालांकि अभी तक मामले में अमेरिका ने कोई बयान नहीं दिया है. लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के तेवर इस मामले में सख्त नजर आ रहे हैं. अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि रूस से साथ भारत ने जो एस-400 हवाई रक्षा प्रणाली खरीद का सौदा किया है अभी उसका अध्ययन कर रहा है. जल्द ही भारत को काउंटरिंग अम्रीकाज एडवर्सरीज थ्रू सैंक्शंस ऐक्ट( CAATSA) के तहत की गई कार्रवाई से अवगत करा दिया जाएगा.

ऐसा माना जा रहा है कि भारत के लिए ये अच्छे संकेत नहीं है. हालांकि इस मामले में अमेरिका ने इस मामले में खुल कर कुछ नहीं कहा है लेकिन कुछ दिन पहले यह जरूर कहा कि काटसा कानून का लक्ष्य भारत जैसे सहयोगी मित्रों को निशाना बनाना नहीं है. अमरीका ने हाल ही में सीएएटीएसए कानून का प्रयोग कर एस-400 खरीदने पर चीन पर प्रतिबंध लगाए हैं.

गौरतलब है कि रूस से हथियार सौदे पर भारत को अमरीकी प्रतिबंधों से छूट देने के बारे में अंतिम फैसला ट्रंप को ही करना है.बी भारत और रूस के बीच हुए सौदे के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने कहा, ''जल्द ही यह भारत को पता चल जाएगा.''

ट्रंप ने ईरान से तेल आयात पर भी चेताया

इसी के साथ ट्रंप ने ईरान से तेल आयात करने वाले देशों को चेताया है. अमेरिका ने ईरान से तेल निर्यात करने के लिए समय सीमा 4 नवंबर तक रखी है. उन्होंने कहा कि भारत और चीन जैसे देशों के ईरान से तेल आयात जारी रखने के बारे में जल्दी ही अंतिम फैसला किया जाएगा.

खुशखबरी: PM मोदी का बड़ा तोहफा, त्योहारों पर इन 12 लाख कर्मचारियों को मिलेगा 78 दिन बोनस

गौरतलब है कि भारत ने रूस के साथ एस-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली की डील तो कर ली है, लेकिन उसे अमेरिका से छूट मिलना इतना आसान नहीं है. विशेषज्ञों की मानें तो अमेरिका में पिछले साल बने कानून अम्रीकाज एडवर्सरीज थ्रू सैंक्शन ऐक्ट (काटसा ) के तहत भारत पर प्रतिबंध लगाए जाने की बहुत सी वजहें हैं. बता दें कि काटसा कानून अमरीका को रूस, ईरान और उत्तर कोरिया के खिलाफ आर्थिक और राजनीतिक प्रतिबंध लगाने की शक्ति देता है. डोनाल्ड ट्रंप की तरफ से आये इस बयान से ऐसा लगता है कि अमरीका इस मुद्दे पर भारत के खिलाफ कोई भी कदम उठा सकता है. फिलहाल अमेरिका का तो फैसला आने वाला वक्त बताएगा.

First published: 11 October 2018, 11:09 IST
 
अगली कहानी