Home » इंटरनेशनल » saarc summit cancel due to india pressor
 

भारत के कूटनीतिक दबाव में रद्द हुआ सार्क सम्मेलन

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:24 IST
(सार्क वेबसाइट)
QUICK PILL
  • इस्लामाबाद में नवंबर में होने वाले सार्क (दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन) सम्मेलन में भारत के नहीं जाने के फैसले के बाद नेपाल ने सार्क सम्मेलन को रद्द कर दिया है.
  • उरी हमले के बाद भारत की कोशिश कूटनीतिक तौर पर पाकिस्तान को वैश्विक और क्षेत्रीय मंच पर अलग-थलग करने की है. इसी रणनीति के तहत भारत ने इस्लाबाद में होने वाली सार्क की बैठक में शामिल नहीं होने का फैसला लिया था.

इस्लामाबाद में नवंबर में होने वाले सार्क (दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन) सम्मेलन में भारत के नहीं जाने के फैसले के बाद नेपाल ने सार्क सम्मेलन को रद्द कर दिया है. हालांकि अभी तक नेपाल ने इस बारे में आधिकारिक घोषणा नहीं की है.सार्क की अध्यक्षता फिलहाल नेपाल के पास है. उरी हमले के बाद भारत ने साफ कर दिया था कि मौजूदा माहौल में उसके लिए सार्क सम्मेलन में भाग लेना संभव नहीं होगा.

सार्क के नियमों के मुताबिक अगर कोई एक सदस्य देश बैठक में शामिल होने से इनकार करता है तो बैठक नहीं हो सकती.

उरी हमले के बाद भारत की कोशिश कूटनीतिक तौर पर पाकिस्तान को वैश्विक और क्षेत्रीय मंच पर अलग-थलग करने की है. इसी रणनीति के तहत भारत ने इस्लाबाद में होने वाली सार्क की बैठक में शामिल नहीं होने का फैसला लिया.

वैश्विक मंच पर भी पाकिस्तान को उरी हमले के बाद बेहद दबाव का सामना करना पड़ रहा है. पाकिस्तान का सामरिक सहयोगी रहा चीन भी पाकिस्तान से दूरी बना चुका है. वहीं अमेरिका, रूस, फ्रांस और जर्मनी ने उरी हमले के बाद भारत की चिंताओं को साझा किया है.

संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे का जिक्र कर अंतरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान भटकाने की कोशिश की थी लेकिन उसे वहां कामयाबी नहीं मिली.

संयुक्त राष्ट्र के किसी भी सदस्य देश ने पाकिस्तान की चिंताओं को साझा नहीं किया. अब क्षेत्रीय मोर्चे पर भी पाकिस्तान के लिए मुश्किलें खड़ी होती जा रही हैं.

भारत के सार्क में शामिल नहीं होने के फैसले के बाद अफ गानिस्तान, भूटान और बांग्लादेश ने भी इस बैठक में शामिल नहीं होने का फैसला लिया था.

भारत ने कहा कि 'एक देश' ने ऐसा माहौल बना दिया है जो सम्मेलन के लिए उपयुक्त नहीं है. विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, 'भारत ने सार्क के मौजूदा अध्यक्ष देश नेपाल को बता दिया है कि क्षेत्र में सीमा पार से होने वाले आतंकी हमलों में बढ़ोतरी और सदस्य देशों के आंतरिक मामलों में एक देश की तरफ से होने वाले हस्तक्षेप ने ऐसा माहौल बना दिया है जिसमें इस्लामाबाद में होने वाली सार्क की 19वीं बैठक नहीं हो सकती.'

बयान में कहा गया है, 'मौजूदा स्थिति को देखते हुए भारत सरकार इस्लामाबाद के प्रस्तावित सम्मेलन में भाग नहीं ले सकता.'

सार्क सम्मेलन में भारत के शामिल नहीं होने के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा कि उन्होंने भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के ट्वीट से जाना कि भारत इस्लामाबाद में होने वाले 19वें सार्क सम्मेलन में हिस्सा नहीं लेगा.

First published: 28 September 2016, 5:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी