Home » इंटरनेशनल » Saudi arabia change his foreign policy
 

बदल रही है सऊदी अरब की विदेश नीति

आशीष कुमार पाण्डेय | Updated on: 11 January 2016, 23:57 IST
QUICK PILL
  • जर्मनी के खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट बीएनडी ने एक बड़े खुलासे में बताया है \r\nकि सऊदी अरब अब अपनी वैश्विक नीति में कुछ बड़े बदलाव ला रही है
  • बीएनडी की रिपोर्ट में उन देशों के नाम भी उजागर किए गए हैं जिसके खिलाफ सऊदी अरब आक्रामक रूख अपनाए हुए है

जनवरी 2015 में सऊदी अरब के बादशाह शाह अब्दुल्लाह के निधन के बाद से विश्व समुदाय को यह लग रहा था कि सऊदी की वैश्विक नीति में संभावित परिवर्तन देखने को मिलेगा.

खबरों के मुताबिक जर्मनी के खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट बीएनडी ने एक खुलासे में बताया है कि सऊदी अरब अब अपनी वैश्विक नीति में कुछ बड़े बदलाव ला रहा है. एजेंसी बीएनडी की मानें तो 29 साल के प्रिंस मोहम्मद सलमान के आने के बाद सऊदी की राजनीति में बड़ा बदलाव आया है.

बीएनडी रिपोर्ट उस समय आयी है जब मीडिया में पेरिस पर आतंकी हमले का मामला छाया हुआ था. बीएनडी की रिपोर्ट यह बताती है कि सऊदी अरब एक अघोषित और अप्रत्याशित नीति का पालन कर रहा है.

इस रिपोर्ट में किंग सलमान के अति महत्वाकांक्षा को ठीक नहीं बताया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक इस वर्ष के शुरू में शिया धर्म गुरु अल- निम्र के साथ 46 लोगों को सऊदी अरब में फांसी दे दी गयी.

सऊदी ने सुन्नी बहुल देशों को अपनी ओर आकर्षित करने की नीति अपना रहा है. अरब के इस कदम को ईरान ने एक चुनौती के दौर पर देखा. बीएनडी की रिपोर्ट में उन देशों के नाम भी उजागर किए गए हैं जिसके खिलाफ सऊदी अरब आक्रामक रूख अपनाए हुए है.

सऊदी ने पहले अलकायदा से जुड़े अल नुसरा फ्रंट और अहरार अल-शाम का साथ दिया था. बीते कुछ समय से सऊदी ईरान के साथ अपने रिश्ते जानबूझकर खराब कर रहा है.

समाचार पत्र द इकोनॉमिस्ट को दिए इंटरव्यू में प्रिंस मोहम्मद सलमान ने ईरान के साथ युद्द के किसी भी तरह की आशंका को खारिज किया है. प्रिंस ने किसी भी सूरत में ऐसा नहीं होने का भरोसा भी जताया है.

First published: 11 January 2016, 23:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी