Home » इंटरनेशनल » Son & wife of legendendry Muhammad Ali, were detained at US Airport & asked whether they are Muslim
 

मुसलमान होने के कारण महान मुक्केबाज मोहम्मद अली के बेटे रोके गए US एयरपोर्ट पर

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 February 2017, 13:43 IST

महान मुक्केबाज मोहम्मद अली के बेटे को अमेरिकी एयरपोर्ट पर रोका गया और उनसे वो सवाल पूछा गया जिसके बारे में उन्होंने कभी सोचा तक नहीं होगा. अमेरिकी एयरपोर्ट पर शर्मिंदगी का सामना करने वाले जूनियर अली को करीब दो घंटों तक रोककर रखा गया और उनसे बार-बार यही सवाल पूछा गया कि क्या वह मुस्लिम हैं, उन्हें यह नाम किसने दिया.

गौरतलब है कि अमेरिका के नए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा कुछ मुस्लिम देशों के नागरिकों के देश में प्रवेश रोकने के आदेश के बाद से वहां के हालात काफी बदल चुके हैं. इसके बाद से वहां रहने वाले लोगों को भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

शायद यही वजह रही जिसके चलते मोहम्मद अली के बेटे को भी ऐसे हालातों का सामना करना पड़ा. जानकारी के मुताबिक जूनियर अली अपनी मां और मोहम्मद अली की पहली पत्नी खलीला खामचो अली के साथ जमैका से वापस लौट रहे थे. उस दौरान उन्हें फोर्ट लॉडरडेल हॉलीवुड इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर इस शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा.

कस्टम क्लीयरेंस के दौरान एयरपोर्ट पर मौजूद अधिकारियों ने दोनों को रोक लिया. उन्हें रोकने जाने की प्रमुख वजह दोनों को ना था, जिनसे इनके मुसलमान होने और विशेषरूप से अरब मूल के होने का संदेह होता था.

पूछताछ के दौरान खलीला ने मोहम्मद अली के साथ अपनी तस्वीर दिखाई और अपने रिश्ते की जानकारी दी, तो उन्हें जाने दिया गया. लेकिन जूनियर अली के पास ऐसा कुछ न होने के चलते उन्हें करीब दो घंटों तक पूछताछ के लिए रोके रखा गया. अधिकारी बार-बार उनसे यही पूछ रहे थे कि क्या वह मुसलमान हैं.

जब उन्होंने जवाब दिया कि 'हां' वह मुसलमान हैं तो अधिकारियों द्वारा अगला सवाल पूछा गया कि वे कहां पैदा हुए. इसके अलावा भी उनसे उनके धर्म से जुड़े कई सवालात पूछे गए.

इस बाबत जूनियर अली के वकील क्रिस मेनसिनी ने कहा कि मौजूदा हालातों में बहुत लोगों को इस स्थिति का सामना करना पड़ रहा है. जूनियर अली से ऐसे पूछताछ की जा रही थी जैसे वे कोई अपराधी हों.

खलीला ने भी पूछताछ का विरोध किया लेकिन अधिकारियों ने उनकी एक न सुनीं. हालांकि जब लंबी पूछताछ के बाद क्रिस मेनसिनी ने दखल दिया तब जाकर अधिकारियों ने उन्हें छोड़ा.

First published: 25 February 2017, 13:43 IST
 
अगली कहानी