Home » इंटरनेशनल » SpaceX: launch of spacex postponed due to bad weather now it will launch on Saturday
 

SpaceX: खराब मौसम के चलते टली स्पेस-एक्स की लॉन्चिंग, अब शनिवार को भरेगा उड़ान

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 May 2020, 9:12 IST

SpaceX launching: अमेरिका (Ameria) के स्पेस-एक्स (SpaceX) का ह्यूमन स्पेस मिशन (Space Mission) खराब मौसम (Bad Weather) के चलते टल गया. खराब मौसम के चलते स्पेस-एक्स का प्रक्षेपण लॉन्चिंग (Launch) से कुछ मिनट पहले टालना पड़ा. जानकारी के मुताबिक, स्पेसएक्स का एक रॉकेट नासा के पायलट डग हर्ली और बॉब बेन्कन के साथ ड्रैगन कैप्सूल को ले कर आज तड़के कैनेडी अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन से उड़ान भरने वाला था, लेकिन खराब मौसम के चलते इसे टाल दिया गया. माना जा रहा है कि अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन (ISS) में पूर्वनिर्धारित समय शाम 4:33 बजे इसकी लॉन्चिंग होनी थी. लेकिन बारिश और तूफान की वजह से इसकी लॉन्चिंग रोक दी गई.

इस अमेरिका (America) का ये मिशन शनिवार को लॉन्च किया जाएगा. बता दें कि पिछले करीब एक दशक में पहली बार अंतरिक्ष यात्री फ्लोरिडा से उड़ान भरेंगे. बता दें कि ये स्पेश मिशन एलन मस्क की स्वामित्व वाली कंपनी स्पेस-एक्स कंपनी का पहला मिशन है. स्पेसएक्स का एक रॉकेट नासा के पायलट डग हर्ली और बॉब बेन्कन के साथ ड्रैगन कैप्सूल को लेकर अमेरिका समय के मुताबिक, बुधवार की दोपहर के वक्त फ्लोरिडा के कैनेडी अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन से उड़ान भरने वाला था, लेकिन खराब मौसम के चलते प्रक्षेपण से 20 मिनट से ही रोक दिया गया


बता दें कि अगर आज ऐसा होता तो स्पेसएक्स अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजने वाली पहली निजी कंपनी बन जाती, यह कुछ ऐसा है जिसे सिर्फ रूस, अमेरिकी और चीन ही अब तक कर पाए हैं. हालांकि, अब शनिवार को फिर से लॉन्चिंग का दूसरा प्रयास किया जाएगा. अगर ये कोशिश सफल होती है तो स्पेस अंतरिक्ष के क्षेत्र में नया इतिहास लिख देगी. बता दें कि अगर आज ऐसा होता तो स्पेसएक्स अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजने वाली पहली निजी कंपनी बन जाती, यह कुछ ऐसा है जिसे अब तक केवल रूस, अमेरिकी और चीन ही कर पाया है.

कोरोना वायरस: हांगकांग ने इस दवाई के प्रयोग से चार दिन में ठीक किए 84 कोविड-19 संक्रमित मरीज

हालांकि, अब शनिवार को फिर से लॉन्चिंग का दूसरा प्रयास किया जाएगा. अगर ये कोशिश सफल होती है तो स्पेस अंतरिक्ष के क्षेत्र में नया इतिहास लिख देगी. अंतरिक्ष रवानगी की पूर्व संध्या पर केनेडी अंतरिक्ष केंद्र से नासा प्रशासक जिम ब्रिडेन्सटाइन ने कहा कि अंतरिक्ष एजेंसी और स्पेस एक्स इस रवानगी से जुड़े सभी लोगों से कह चुके हैं कि जब भी कोई चिंता या परेशानी दिखे तो वह उसी क्षण उल्टी गिनती यानी लॉन्चिंग को रोक सकते हैं.

शोध का दावा- एंटीवायरल ड्रग इंटरफेरॉन है कोरोना वायरस के इलाज की सबसे असरदार दवा

चीन के शोधकर्ताओं का दावा : Covid-19 वैक्सीन का पहला मानव परीक्षण सफल रहा

बता दें कि स्पेसएक्स अमेरिका की एक कंपनी है जो फाल्कन 9 और फाल्कन हैवी रॉकेट्स पर कमर्शियल और सरकारी लॉन्च सेवाएं देती है. एलन मस्क ने साल 2002 में इस कंपनी की नींव रखी थी. कंपनी स्थापित करने का उनका मकसद अंतरिक्ष में ट्रांसपोर्टेशन की लागत को कम करना है. साथ ही इसका एक मकसद मंगल ग्रह पर इंसानी बस्तियां बनाना भी है. स्पेसएक्स दुनिया की अकेली ऐसी निजी कंपनी है जो कि नियमित तौर पर धरती पर रॉकेट के स्टेज वापस लौटाती है ताकि इनको फिर से लॉन्च किया जा सके.

सावधान: करोड़ों भारतीयों की निजी जानकारी लीक, कहीं आपका फोन नंबर तो नहीं हो गया हैक

बता दें कि स्पेसएक्स ही आईएसएस यानी इंटरनेशन स्पेस स्टेशन पर नियमित रूप से कार्गो भेजती रही है और अब वह एस्ट्रोनाॉट्स को लॉन्च कर रही है. मस्क की कंपनी स्टारशिप नाम से बड़े स्पेसक्राफ्ट भी विकसित कर रही है जिन्हें मंगल पर इंसानों की बस्तियां तैयार करने में इस्तेमाल किया जाएगा.

Coronavirus : भारत में बन रहे कोविड-19 टीकों का अगले 3 से 5 महीने में शुरू होगा क्लीनिकल ट्रायल

First published: 28 May 2020, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी