Home » इंटरनेशनल » Sri Lanka nine muslim ministers and two governors resign to protest threat to community
 

श्रीलंका में सभी मुस्लिम मंत्रियों और दो गवर्नर ने दिया इस्तीफा, जानिए क्या है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 June 2019, 9:17 IST

श्रीलंका में अप्रैल महीने में ईस्टर संडे के मौके पर चर्च और होटलों में हुए बम ब्लास्ट के बाद मुस्लिमों के प्रति संदेश बढ़ गया है. जहां लोगों ने मुस्लिमों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किया. अब श्रीलंका के सभी मुस्लिम मंत्रियों और दो गवर्नर ने इस्तीफा दे दिया. दरअसल, श्रीलंका में पिछले चार दिनों से बहुसंख्यक बौद्ध समुदाय के लोग कैंडी में प्रदर्शन कर रहे थे. इसी बीच सोमवार को देश के नौ मुस्लिम मंत्रियों और दो गवर्नर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया. प्रदर्शनकारी ईस्टर के मौके पर हुए बम धमाकों के सिलसिले में तीन मुस्लिम मंत्रियों के इस्तीफे की मांग कर रहे थे.

इन प्रदर्शनकारियों में सांसद अतुरालिए रतना थिरो भी शामिल थे, जो खुद बौद्ध समुदाय से आते हैं और एक बौद्ध भिक्षु भी हैं. अतुरालिए ने कैंडी में प्रदर्शन शुरु किया था. जिसमें उन्होंने तीन मुस्लिम मंत्रियों के इस्तीफे की मांग की थी. इसके साथ ही वह पूरे मामले की जांच के लिए भी आमरण अनशन पर थे.

सांसद अतुरालिए का आरोप है कि तीनों मुस्लिम मंत्रियों के संबंध कट्टरपंथी संगठन नेशनल तौहीद जमात से हैं. इससे पहले ईस्टर धमाकों के बाद से ही श्रीलंका सरकार ने एनटीजे को देश में प्रतिबंधित कर दिया था. सोमवार दोपहर दो मुस्लिम गवर्नर अजत सैली और हिज्बुल्ला ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया

वहीं राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरीसेना ने भी गवर्नरों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है. दोनों गवर्नरों के इस्तीफे के बाद केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल सभी नौ मुस्लिम मंत्रियों, उप मंत्रियों और राज्य मंत्रियों ने भी इस्तीफा दे दिया. श्रीलंका की 225 सदस्यीय संसद में 19 मुस्लिम सांसद हैं, जिनमें नौ कैबिनेट मंत्री भी थे. उद्योग और वाणिज्य मंत्री रिसत बैथियूथीन पर आरोप है कि वह एनटीजे का समर्थन करते रहे हैं. हालांकि, उन्होंने इन आरोपों को खारिज किया है.

श्रीलंका मुस्लिम कांग्रेस के सांसद रऊफ हकीम का कहना है कि जब तक मामले की जांच पूरी नहीं हो जाती है, मुस्लिम सांसद सरकार में शामिल नहीं होंगे. वहीं वरिष्ठ मंत्री कबीर हाशिम ने इस्तीफा देने के बाद कहा, "एक जिम्मेदार समुदाय के नाते हमने पद से इस्तीफा देने का फैसला किया ताकि मामले की निष्पक्ष जांच पूरी हो और देश में शांति कायम रहे.

वायुसेना के लापता AN-32 विमान की बड़े स्तर पर हो रही है खोज, सेना ने संभाला मोर्चा

First published: 4 June 2019, 9:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी