Home » इंटरनेशनल » India already informed about the surgical strike to USA repotrs an english daily
 

एलओसी पार भारत के सर्जिकल स्ट्राइक की अमेरिका को पहले से थी जानकारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 September 2016, 10:20 IST
(फाइल फोटो)

गुरुवार को भारत-पाकिस्तान के साथ ही अंतरराष्ट्रीय मीडिया में भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक का मुद्दा छाया रहा. खबर है कि अमेरिका ने पाकिस्तान को आतंकवाद को लेकर फटकार भी लगाई है.

पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में एलओसी पार करके भारतीय सेना के सर्जिकल ऑपरेशन में 38 आतंकियों के मारे जाने की बात सामने आई है. हालांकि पाकिस्तान ने ऐसे किसी हमले से इनकार किया है.

इस बीच अंग्रेजी अखबार इकोनॉमिक टाइम्स के हवाले से खबर है कि भारत ने इस सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में अमेरिका को पहले ही जानकारी दे दी थी. वहीं खबर है कि ओबामा प्रशासन ने भारत-पाक के बीच सरहद पर बढ़ते तनाव पर चिंता जताई है.

अमेरिका ने कहा है कि पाकिस्तान को अपनी जमीन को आतंकियों के लिए 'सुरक्षित स्थान' नहीं बनने देना चाहिए. पाक को आतंकवाद के मसले पर अपने पड़ोसी मुल्क की मदद करनी चाहिए.

पीओके में सर्जिकल ऑपरेशन के बाद अमेरिका में व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जॉश अर्नेस्ट ने बताया, "वॉशिंगटन को सर्जिकल ऑपरेशन के बाद दिनभर के अपडेट की जानकारी थी, लेकिन हम चाहते हैं कि भारत के इस एक्शन के बाद दोनों पक्षों की सेना में बातचीत हो. दोनों तरफ से तनाव दूर करने के लिए पहल जरूरी है."

डोभाल ने अमेरिकी एनएसए राइस को किया फोन

अंग्रेजी अखबार 'इकोनॉमिक टाइम्स' की खबर के मुताबिक सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में अमेरिका को पहले से जानकारी थी. भारत में गुरुवार को दोपहर 12 बजे के बाद जब सेना और विदेश मंत्रालय की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई, तभी इसकी जानकारी मिली.

गुरुवार को डीजीएमओ की दिल्ली में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस से काफी पहले अमेरिकी एनएसए सुजैन राइस ने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर भारत के एनएसए अजीत डोभाल को फोन किया था.

खबर के मुताबिक इस बातचीत के दौरान अजीत डोभाल ने उन्हें सर्जिकल स्ट्राइक की पूरी जानकारी दी थी. वहीं कुछ और मीडिया रिपोर्ट्स में ये भी बताया जा रहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में अमेरिका को काफी पहले से जानकारी थी.

First published: 30 September 2016, 10:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी