Home » इंटरनेशनल » taslima nasreen controversial remarks on islam
 

तस्लीमा नसरीन: बस अब मत कहो कि इस्लाम अमन पसंद धर्म है

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 July 2016, 16:42 IST
(पीटीआई)

बांग्‍लादेश की राजधानी ढाका में बीते शुक्रवार को हुए आतंकी हमले के बाद बांग्लादेश से निर्वासित लेखिका तस्‍लीमा नसरीन ने इस्लाम पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है. इसके अलावा तस्लीमा ने अवामी लीग की शेख हसीना सरकार पर भी तगड़ा हमला बोला है. तस्लीमा ने ट्विटर पर लिखा है, "मानवता के लिए इस्लाम को शांति का धर्म कहना बंद कर दीजिए. अब बिल्कुल भी नहीं..."

इसके अलावा उन्‍होंने प्रधानमंत्री शेख हसीना पर भी हमला करते हुए ट्वीट किया, "ढाका हमलों के लिए आईएसआईएस ने जिम्‍मेदारी ली है, लेकिन पीएम कहती हैं कि बांग्‍लादेश में इस आतंकी संगठन का कोई वजूद नहीं है."

तस्लीमा नसरीन ने हमले की व्याख्या करते हुए ट्वीट किया, "ढाका में आतंकियों ने सुबह मुस्लिम बंधकों से कहा था कि हम यहां गैर-मुस्लिमों को मारने आए हैं. हम तुम्हें नहीं मारेंगे. बेहतर होगा कि तुम चले जाओ. हम जन्नत में जा रहे हैं."

भारत में रहती हैं तस्लीमा

गौरतलब है कि तस्‍लीमा नसरीन ने भारत में 1992 में बाबरी मस्जिद गिराए जाने के बाद प्रतिक्रिया स्वरूप बांग्लादेश में हिंदुओं पह हमले को केंद्र में रखकर 'लज्जा' नाम का उपन्यास लिखा था.

जिसके बाद उनके खिलाफ कई मुस्लिम कट्टरपंथी संगठनों के द्वारा जान से मारने की धमकी दी गई थी. इसी के चलते उन्होंने 1994 में बांग्‍लादेश छोड़ दिया और भारत में शरण ले ली.

तस्लीमा नसरीन इस समय कोलकाता में निर्वासन की जिंदगी बिता रही हैं. वह बांग्लादेश के मैमन सिंह इलाके से ताल्लुक रखती हैं. साथ ही तस्लीमा ने मैमन सिंह मेडिकल कॉलेज से डॉक्टरी की पढ़ाई भी की है.

First published: 4 July 2016, 16:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी