Home » इंटरनेशनल » terrorism in europe
 

यूरोप में 7 बड़े आतंकी हमले

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 March 2016, 17:33 IST
QUICK PILL
बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे और मेट्रो \r\nस्टेशन पर मंगलवार को सीरियल बम धमाके हुए. समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक\r\n इस आतंकवादी हमले में अब तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है. एजेंसी से आ रही \r\nखबरों के मुताबिक इस घटना में 100 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं.वीडियो: ब्रसेल्स में आंतकवादी हमला, 21 लोगों की मौत
यह\r\n हमला पेरिस हमलों के संदिग्ध हमलावर सालाह अब्देसलाम की गिरफ्तारी के चार \r\nदिन बाद हुआ है. नवंबर में पेरिस हमलों के बाद अब्देसलाम फरार था और \r\nशुक्रवार को उसे बेल्जियम के ब्रसेल्स शहर से एक कार्रवाई के बाद गिरफ्तार \r\nकिया गया था.यूरोप में हुए कुछ बड़े आतंकवादी हमले:

मैड्रिड ट्रेन धमाका, 2004

11 मार्च 2014 को स्पेन की राजधानी मैड्रिड में इस्लामिक चरमपंथियों ने कई ट्रेनों में सीरियल बम ब्लास्ट किया था.इस हमले में 191 लोग मारे गए थे जबकि 1800 से ऊपर लोग घायल हुए थे.

spain.jpg

साभार:nbcnews.com

अलकायदा से जुड़े मोरक्को के एक इस्लामी ग्रुप ने लोकल ट्रेनों में 13 जगहों पर विस्फोटक सामग्री रख दी थी. सुबह दस बजे जब लोग ऑफिस के लिए जा रहे थे तभी बम धमाके हुए.

मैड्रिड हमले के तीन हफ्ते बाद इसे अंजाम देने वाले सात लोगों ने पुलिस द्वारा घेरे जाने पर खुद को बम उड़ा लिया था.

लंदन धमाका, 2007

सात जुलाई, 2007 को ब्रिटेन की राजधानी लंदन में चार अलग-अलग धमाके हुए. यह आत्मघाती हमला था जिसमें 52 लोग मारे गए और करीब 700 लोग घायल हुए.

london.jpg

साभार: mirror.co.uk

गुरुवार के दिन सुबह 7.30 बजे लंदन में मेट्रो से ऑफिस जाने वालों की भीड़ लगी हुई थी. उसी समय लिवरपूल स्ट्रीट, एजवेयर रोड, किंग्सक्रॉस स्टेशनों के बीच बम धमाके हुए.

इसके एक घंटे बाद चौथा धमाका टेविस्टॉक स्कवेयर में एक डबल-डेकर बस पर हुआ. इसके बाद 21 जुलाई को फिर लंदन में चार जगह पर बम धमाके करने की कोशिश की गई लेकिन ये नाकाम रही.

बुल्गारिया धमाका, 2012

18 जुलाई, 2012 को बुल्गारिया के बुरगास हवाई अड्डे के पास इस्राएली पर्यटकों के बस पर आत्मघाती हमला हुआ था. इसमें आठ लोग मारे गए जबकि 30 लोग घायल हुए थे.

bulgaria-bus.jpg

साभार: CNN

इनमें छह इस्राएलियों, एक बुल्गारियाई नागरिक के अलावा हमलावर की मौत हुई थी. उस समय बुल्गारिया के तत्कालीन गृह मंत्री स्वेतान स्वेतानोव ने धमाके के पीछे लेबनान के उग्रवादी संगठन हिजबुल्ला का हाथ होने की आशंका जताई थी.

हमले के तुरंत बाद इस्राएल के तत्कालीन प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू ने हमले के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया था. ईरान इन आरोपों को ठुकरा चुका है.

शार्ली एब्दो हमला, 2015

7 जनवरी, 2015 को फ्रांस की मशहूर व्यंग्य पत्रिका शार्ली एब्दो पर आतंकवादी हमला हुआ था. इसमें 17 लोग मारे गए जिनमें तीन पुलिसकर्मी भी शामिल थे.

Hebdo.jpg

उस समय कहा गया था कि हमलावर मैगजीन में छपे पैगंबर मुहम्मद के कार्टून से नाराज थे. पत्रिका काफी समय अपने कथित 'इस्लाम विरोधी' कंटेंट की वजह से कट्टरपंथियों के निशाने पर थी.

इस हमले में पत्रिका के एडिटर सहित नौ पत्रकारों की भी मौत हुई थी.

डेनमार्क हमला, 2015

15 फरवरी, 2015 को डेनमार्क राजधानी कोपेनहेगन में कैफे और यहूदी प्रार्थना स्थल पर आतंकवादी हमला हुआ था. इस हमले में हमलावर सहित तीन लोग मारे गए थे जबकि पांच पुलिस वाले घायल हुए थे.

Shooting-Copnehagen.jpg

साभार: CNN

इस हमले में एक 55 वर्षीय डॉक्यूमेंटरी फिल्म निर्माता फिन नॉयर्गार्ड मारे गए. हमलावर को पुलिस ने उसी के अपार्टमेंट के बाहर हुई मुठभेड़ में मार गिराया.

डेनिश मीडिया ने उस समय हमलावर की पहचान ओमार आब्देल हामिद अल-हुसैन बताई, जिसका संबंध फिलीस्तीन से था.

पेरिस हमला, 2015

16 नवंबर, 2015 को फ्रांस की राजधानी पेरिस में कई जगह हुए आतंकी हमलो में 129 से ज्यादा लोग मारे गए थे. गोलीबारी और धमाकों में 200 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं.

paris arrack1

घटना के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने देश में आपातकाल की घोषणा की थी. इसके बाद फ्रांस की सीमा सील कर कर दी गई थी.

पिछले साल पेरिस में कम से कम सात अलग-अलग जगहों पर आतंकियों ने एक साथ हमला किया. दूसरे विश्व युद्ध के बाद इसे फ्रांस पर हुआ सबसे बड़ा हमला बताया गया था.

First published: 22 March 2016, 17:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी