Home » इंटरनेशनल » The residents of PoK held protest against China to illegal construction of dams
 

PoK में चीन के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग, बांध के अवैध निर्माण को लेकर फूटा गुस्सा

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 July 2020, 9:12 IST

Anti china protest in PoK: पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) के निवासियों का चीन के खिलाफ गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने जमकर विरोध (Protest) प्रदर्शन किया. दरअसल, नीलम (Nilam) और झेलम नदियों (Jhelam River) पर बांध (Dam) के अवैध निर्माण (Illegal construction) को लेकर पीओके (PoK) लोगों में चीन के खिलाफ काफी गुस्सा है. पीओके के निवासी चीन पर इन नदियों (Rivers) पर बनाए गए बांध को अवैध बता रहे हैं और चीन के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. इसी को लेकर पाकिस्तान (Pakistan) के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के लोगों ने मुजफ्फराबाद (Muzaffarabad) शहर में चीन (China) और पाकिस्तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

बता दें कि नीलम झेलम और कोहाला हाइड्रो पावर परियोजनाओं के अवैध निर्माण के विरोध को लेकर सोमवार यहां के निवासियों एक विशाल विरोध रैली आयोजित की और चीन के साथ ही पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि पाकिस्तान और चीन द्वारा निर्मित बांधों के कारण पर्यावरणीय प्रभावित होगा. इसके लिए उन्होंने इस मुद्दे को वैश्विक मंच पर उजागर करने के लिए हैशटैग #SaveRiversSaveAJK के साथ ट्विटर पर सोशल मीडिया कैंपेन भी शुरू किया है.


प्रदर्शनकारी पूछ रहे हैं कि किस कानून के तहत पाकिस्तान और चीन के बीच विवादित क्षेत्र का नदी समझौता हुआ है? उनका कहना है कि पाकिस्तान और चीन नदियों पर कब्जा करके संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन कर रहे हैं. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि हमें कोहला परियोजना की ओर मार्च करना चाहिए और तब तक वहां विरोध जारी रखना चाहिए, जब तक कि यह नहीं रुकेंगे.

Corona Virus Update: दुनियाभर में पांच लाख 40 हजार से ज्यादा लोगों की मौत, संक्रमितों की संख्या 1.17 करोड़ के पार

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी ढेर, गोलीबारी जारी

बता दें कि हाल ही में कोहाला में 2.4 बिलियन डॉलर की लागत से 1,124 मेगावॉट जलविद्युत परियोजना के निर्माण के लिए एक चीनी कंपनी और पाकिस्तान की कंपनी को लेकर चीन की सरकार के बीच एक त्रिपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर हुए हैं. चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (CPEC) के तहत PoK में झेलम नदी पर बनाया जा रहा हाइड्रोपावर प्लांट कोहाला हाइड्रोपावर कंपनी लिमिटेड (KHCL) को दिया गया है, जो चाइना थ्री गोरजेस कॉर्पोरेशन (CTGC) की सहायक कंपनी है.

नवंबर 2020 तक मोदी सरकार दे रही फ्री राशन, लेने के लिए जल्दी से कर लें ये जरूरी काम

First published: 7 July 2020, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी