Home » इंटरनेशनल » Third major terror attack in France after Charlie Hebdo since January, 2015
 

शार्ली एब्दो, पेरिस और अब नीस: 18 महीने में तीसरी बार आतंक से लहूलुहान फ्रांस

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 July 2016, 18:23 IST

दक्षिणी फ्रांस के नीस शहर में एक बार फिर आतंक ने दस्तक दी है. एक ट्रक ड्राइवर ने नेशनल डे समारोह के दौरान जुटी भीड़ को कुचलते हुए बेतहाशा फायरिंग की. हमले में 84 लोगों की जान जा चुकी है. वहीं 100 से ज्यादा लोग जख्मी बताए जा रहे हैं.

वैसे फ्रांस में बड़े आतंकी हमलों का सिलसिला पिछले साल शुरू हुआ था, जब शार्ली एब्दो मैगजीन के कर्मचारियों को निशाना बनाया गया. इस हमले से फ्रांस उबर भी नहीं सका था कि ठीक दस महीने बाद पेरिस शहर को बड़े आतंकी हमले का शिकार बनना पड़ा. एक नजर डालते हैं फ्रांस में पिछले डेढ़ साल के दौरान हुए तीन आतंकी हमलों पर, जिन्होंने फ्रांस ही नहीं पूरी दुनिया को हिला दिया:    

शार्ली एब्दो मैगजीन के दफ्तर पर हमले में 17 लोगों की मौत हुई थी
शार्ली एब्दो के ट्विटर पेज पर हमले के दिन आईएस सरगना अल बगदादी का कार्टून लगाया गया (ट्विटर)

हमले के बाद शार्ली एब्दो के स्तंभकार पैट्रिक पेलू ने कहा कि पत्रिका अगले हफ्ते अपने समय पर निकलेगी. पेरिस में शार्ली एब्दो के पत्रिका के दफ्तर पर हमले से कुछ देर पहले ट्विटर अकाउंट से किया गया आखिरी ट्वीट चर्चा का विषय रहा.

पढ़ें: फ्रांस: नीस में नेशनल डे समारोह में बड़ा आतंकी हमला, ट्रक सवार ने ली 84 की जान

पत्रिका के आधिकारिक ट्विटर हैंडल की तरफ से ट्वीट किए गए कार्टून के कैप्शन में लिखा गया,. "बेस्ट विशेज, टु यू टू अल-बगदादी (आप सभी को शुभकामनाएं, अल-बगदादी तुम्हें भी)." फ्रांसीसी समय के हिसाब से यह ट्वीट बुधवार सुबह किया गया था. मीडिया में हमले की खबरों के आने से पहले इसे पोस्ट किया जा चुका था.

नवंबर 2015 में हुए हमले को दूसरे विश्व युद्ध के बाद पेरिस पर सबसे बड़ा हमला माना गया
मुख्य संदिग्ध अब्देसलाम को अप्रैल 2016 में बेल्जियम ने फ्रांस को सौंपा

बेल्जियम ने इसी साल अप्रैल में पेरिस हमले के मुख्य संदिग्ध सलाह अब्देसलाम को फ्रांस को सौंप दिया था. उसे पेरिस में हुए आतंकी हमलों का मुख्य साजिशकर्ता माना जा रहा है.

चार महीने से फरार अब्देसलाम को बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स में हुई एक कार्रवाई के दौरान पकड़ा गया था. ब्रसेल्स के मोलेन्बीक इलाके में हुई छापामारी में वो घायल हो गया था.

पढ़ें: यूरोप में 7 बड़े आतंकी हमले

बेल्जियम ने अब्देसलाम पर आतंकवाद से जुड़े आरोप लगाए हैं. लेकिन वो खुद को फ्रांस प्रत्यर्पित किए जाने का विरोध कर रहा था.

एक साल के अंदर दूसरे बड़े आतंकी हमले से फ्रांस दहल गया था

इस भीषण हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आईएसआईएस (इस्लामिक स्टेट) ने ली थी. इस हमले के बाद फ्रांस में तीन दिवसीय राष्ट्रीय शोक का एलान किया गया. मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देने के लिए डिजनीलैंड को बंद कर दिया गया.

श्रद्धांजलि देने के लिए अमेरिका के कैलिफोर्निया में डिजनीलैंड को बंद किया गया था
दक्षिणी शहर नीस में फ्रांसीसी क्रांति के अहम दिन की याद में जश्न चल रहा था (एएफपी)

ट्रक ड्राइवर हमलावर ने लोगों को रौंदने के बाद अंधाधुंध फायरिंग की. आतंकवादी संगठन आईएसआईएस (इस्लामिक स्टेट) ने हमले की जिम्मेदारी ली है. लोग बास्तील डे (फ्रांसीसी क्रांति की शुरुआत का दिन) के मौके पर आतिशबाजी देखने के लिए जुटे हुए थे.

ट्रक करीब दो किलोमीटर तक लोगों को कुचलता हुआ नेशनल डे की परेड के दौरान घुस गया. पुलिस ने आरोपी ट्रक ड्राइवर को कार्रवाई के दौरान मार गिराया.

फ्रांस ने सीरिया और इराक में फ्रांसीसी कार्रवाई को जारी रखने का एलान किया है (एएनआई)

विनोन गए फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने हमले की सूचना मिलने के बाद पेरिस लौटने का फैसला किया. फ्रांस में तीन महीने के लिए इमरजेंसी जारी रखने का एलान किया गया है.

पढ़ें: फ्रांस को सौंपा गया पेरिस हमले का मुख्य संदिग्ध सलाह अब्देसलाम

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने नीस में हुए इस आतंकी हमले की कड़ी निंदा की है. फ्रांस की समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक ट्रक के ड्राइवर ने मारे जाने से पहले पिस्टल से फायरिंग की.

पेरिस में दो आतंकी हमले के बाद लागू आपातकाल को तीन महीने बढ़ा दिया गया है (एएफपी)
First published: 17 July 2016, 18:23 IST
 
अगली कहानी