Home » इंटरनेशनल » Trump again goes after India, says it slaps 'big tariffs' on US products
 

फिर भड़के ट्रम्प, कहा- सालों से हमें लूट रहे हैं... मैंने PM मोदी को भी फोन किया था

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 April 2019, 16:37 IST

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने पेपर उत्पादों और हार्ले-डेविडसन बाइक पर भारत के हाई टैरिफ की आलोचना करते हुए कहा है कि भारत, चीन और जापान जैसे देशों से अमेरिका अरबों डॉलर गंवा रहा है. रविवार को विस्कॉन्सिन राज्य के ग्रीन बे शहर में रिपब्लिकन की राजनीतिक रैली को संबोधित करते हुए ट्रंप ने आरोप लगाया कि हर देश वर्षों से अमेरिका को बरगला रहा है. राष्ट्रपति ने दावा किया है कि भारत एक 'टैरिफ किंग' है और अमेरिकी उत्पादों पर अधिक टैरिफ लगाता है.

ट्रंप ने कहा इतने दशकों से हम चीन, जापान और भारत से अरबों डॉलर का गंवा रहे हैं''. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि विदेशी कागज उत्पादों पर उच्च शुल्क लगाया जा रहा है. उन्होंने कहा, "हम विदेशी कागज उत्पादों पर शून्य शुल्क लगाते हैं, लेकिन जब विस्कॉन्सिन पेपर कंपनियां इसे विदेशों में निर्यात करती हैं ... चीन और भारत ने हमसे बड़े टैरिफ वसूल किए, जबकि वियतनाम ने भी हमसे भारी टैरिफ वसूला है."

उन्होंने दावा किया कि अमेरिका के लोगों ने ऐसी सरकार की मांग की है जो अमेरिका को सबसे पहले रखे. इस साल की शुरुआत में हार्ले-डेविडसन मोटरसाइकिलों पर भारत द्वारा आयात शुल्क को 100 प्रतिशत से घटाकर 50 प्रतिशत करने पर वाइट हाउस ने संतुष्टि जताई थी. राष्ट्रपति ने कहा कि उन्होंने हार्ले-डेविडसन मोटरसाइकिलों पर शुल्क के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन किया था.

ट्रंप ने कहा ''हार्ले-डेविडसन को देखें, मैं उनसे साथ तीन साल पहले मिला था, वे मुझे कुछ खास तरह का व्यवसाय करने के लिए कहते थे. मैंने पूछा 'आप भारत में कैसे बिजनेस कर रहे हैं?' और उन्होंने कहा, 'ओह, हम कोई व्यवसाय नहीं करते हैं.'' उन्होंने कहा "इसलिए भारत ने हार्ले-डेविडसन पर 100 प्रतिशत टैरिफ लगाया, लेकिन जब वे अपनी मोटरसाइकिल भेजते हैं और वे हमारे पास आते हैं, तो हम उनसे कुछ नहीं लेते हैं."

ट्रंप ने कहा "तो मैंने प्रधानमंत्री मोदी को फोन किया और इसे अनुचित कहा, उन्होंने इसे 50 प्रतिशत काटा... लेकिन यह बहुत अच्छा नहीं है'' ट्रम्प ने कहा ''भारत कुछ स्टील और एल्युमीनियम उत्पादों पर अमेरिका द्वारा लगाए गए उच्च शुल्क से छूट के लिए दबाव बना रहा है.

दूसरी ओर, अमेरिका अपने कृषि उत्पादों, डेयरी उत्पादों, चिकित्सा उपकरणों, आईटी और संचार वस्तुओं के लिए आयात शुल्क में कटौती के माध्यम से अधिक से अधिक बाजार पहुंच की मांग कर रहा है. भारत ने कहा है कि आईटी उत्पादों पर शुल्क में कटौती करना उनके लिए कठिन होगा. 2017-18 में अमेरिका को भारत का निर्यात 47.9 बिलियन अमरीकी डॉलर था, जबकि आयात 26.7 बिलियन अमरीकी डॉलर था.

चीन छोड़कर भारत आने की तैयारी में 200 अमेरिकी कंपनियां

First published: 29 April 2019, 16:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी