Home » इंटरनेशनल » Trump wants to stop subsidies to India, China
 

भारत और चीन की सब्सिडी बंद करना चाहते हैं ट्रंप, WTO को भी सुनाई खरी-खोटी

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 September 2018, 15:18 IST

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को कहा कि वह भारत और चीन जैसी बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं की सब्सिडी को रोकना चाहते हैं. क्योंकि वह किसी अन्य देश की तुलना में तेजी से बढ़ने में अमेरिका को विकासशील राष्ट्र मानते हैं. फार्गो शहर नॉर्थ डकोटा में एक फंडराइज़र कार्यक्रम को संबोधित करते हुए, उन्होंने विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) पर चीन को महान आर्थिक शक्ति बनाने का आरोप लगाया.

'ट्रम्प ने कहा "हमारे पास इनमें से कुछ देश हैं जिन्हें बढ़ती अर्थव्यवस्था माना जाता है. कुछ ऐसे देश जो अभी तक परिपक्व नहीं हुए हैं, इसलिए हम उन्हें सब्सिडी दे रहे हैं''. ट्रम्प ने भरा और चीन को कहा कि वे खुद को विकासशील राष्ट्र कहते हैं और उस श्रेणी के तहत उन्हें सब्सिडी मिलती है."

 

ट्रंप ने कहा "हमें उन्हें पैसे देने होंगे यह पूरी बात सही नहीं है, लेकिन हम इसे रोकने जा रहे हैं. डब्ल्यूटीओ पर हमला करते हुए ट्रम्प ने कहा कि वह सोचते हैं कि विश्व व्यापार संगठन शायद सबसे खराब था. "लेकिन बहुत से लोग नहीं जानते कि वह क्या है, जिसने चीन को यह महान आर्थिक शक्ति बनने की अनुमति दी."

अमेरिका और चीन के बीच व्यापार घाटे पर जिसने दुनिया की शीर्ष दो अर्थव्यवस्थाओं के बीच एक टैरिफ युद्ध का नेतृत्व किया है, उन्होंने कहा, "मैं (चीनी) राष्ट्रपति शी जिनपिंग का बड़ा प्रशंसक हूं, लेकिन मैंने उनसे कहा, हम निष्पक्ष तरीके से  रहेंगे. 

उन्होंने कहा, "हम चीन को संयुक्त राज्य अमेरिका में सालाना 500 बिलियन नहीं दे सकते हैं और खुद को पुनर्निर्माण नहीं कर सकते हैं''. राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि अमेरिका को अमीर देशों के बाहरी नुकसान से सुरक्षित रखने के लिए भुगतान करना चाहिए.

ये भी पढ़ें : जब इमरान खान चाहते हैं शांति तो पाक आर्मी चीफ बाजवा ने उनके सामने ही भारत को क्यों ललकारा?

First published: 8 September 2018, 14:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी