Home » इंटरनेशनल » Twitter suspended 3,60,000 accounts since february for promoting violence and terrorism
 

आईएस समर्थकों पर ट्विटर हुआ सख्त, एक साल में 3.6 लाख अकाउंट बंद

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 August 2016, 13:23 IST

सोशल मीडिया के जरिए आतंकवाद के प्रचार-प्रसार पर नकेल कसने के लिए ट्विटर ने बड़ा कदम उठाया है. माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने जानकारी दी है कि पिछले छह महीनों के दौरान हिंसक चरमपंथ को प्रमोट करने के आरोप में उसने दो लाख से ज्यादा ट्विटर अकाउंट बंद कर दिए हैं.

आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) जैसे संगठन सोशल साइट के जरिए आतंकवाद का धड़ल्ले से प्रचार करने में जुटे हैं. सोशल मीडिया के इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल आईएस ने आतंक फैलाने के मकसद से किया है. एक नजर कुछ दिलचस्प आंकड़ों पर:

2,35,000

ट्विटर ने जानकारी दी है कि पिछले छह महीनों के दौरान उसने आतंकवाद का प्रचार-प्रसार करने वाले 2 लाख 35 हजार अकाउंट बंद कर दिए.

इस कार्रवाई के जरिए माइक्रो ब्लॉगिंग साइट इस कोशिश में है कि चरमपंथी संगठन हिंसक संदेशों का इस्तेमाल न कर पाएं. ट्विटर ने 'एन अपडेट ऑन ऑवर एफर्ट्स टु कॉम्बैट वायलेंट एक्सट्रीमिज्म' शीर्षक वाले ब्लाग पोस्ट में इस बारे में लिखा है.

1,25,000

इसी साल फरवरी में ट्विटर ने जानकारी दी थी कि 2015 के मध्य से लेकर उसने 1 लाख 25 हजार अकाउंट को बंद कर दिया. 

ट्विटर के मुताबिक हिंसक धमकियों और आतंकवाद के प्रमोशन से जुड़े नियमों का उल्लंघन करने पर इसे बंद किया गया. ट्विटर का कहना है कि वह अब चरमपंथी कंटेंट (सामग्री) को तुरंत पहचान रहा है और इसमें शामिल अकाउंट्स को बंद कर रहा है.

3,60,000

2015 से लेकर अब तक ट्विटर ने कुल 3 लाख 60 हजार अकाउंट्स को आतंकवादी सामग्री को प्रमोट करने पर सस्पेंड किया है. ट्विटर का कहना है, "हम आतंकवादी घटनाओं की निंदा करते हैं. हमारे प्लेटफॉर्म को कोई भी शख्स हिंसा या आतंकवाद के प्रमोशन के लिए इस्तेमाल न कर पाए, इसके लिए हम प्रतिबद्ध हैं."

75,000

इस्लामिक स्टेट

जिन ट्विटर खातों को बंद किया गया है, उनमें से 75 हजार ऐसे हैं, जिन्होंने साल 2014-15 के दौरान आतंकी संगठन आईएस के पोस्ट को एक दिन में 60 बार ट्वीट किया.

ट्विटर का कहना है, "इस तरह के कदम उठाए जा रहे हैं कि सस्पेंड किए गए अकाउंट्स को चलाने वाले आसानी से ट्विटर पर न लौट पाएं."

46,000

अकाउंट

ब्रूकिंग्स इंस्टीट्यूट की ट्विटर जनगणना के मुताबिक सितंबर से दिसंबर 2014 के बीच आईएस समर्थकों ने 46 हजार अकाउंट्स का इस्तेमाल किया.

50%

ज्यादा सक्रिय

अमेरिकी संस्था आरएएनडी कॉरपोरेशन ने आईएस समर्थकों के ट्विटर पर नेटवर्क के बारे में एक रिसर्च की. इसके मुताबिक जुलाई 2014 से मई 2015 के बीच 75 हजार खातों से आतंकी संगठन का समर्थन करने वालों ने ट्वीट किए.

इस अध्ययन के मुताबिक अपने ऑनलाइन आलोचकों के मुकाबले आईएस समर्थक 50 फीसदी ज्यादा सक्रिय रहे.

First published: 20 August 2016, 13:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी