Home » इंटरनेशनल » Two hundred Indian Kailash Mansarovar pilgrims stuck in Nepal
 

कैलाश मानसरोवर यात्रियों पर पड़ी खराब मौसम की मार, नेपाल में फंसे 200 भारतीय यात्री

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 June 2019, 9:12 IST

कैलाश मानसरोवर यात्रियों पर खराब मौसम की मार पड़ रही है. नेपाल में भारत के 200 यात्री खराब मौसम की वजह से फंसे हुए हैं. कैलाश मानसरोवर यात्रा से वापस लौट रहे करीब 200 भारतीय श्रद्धालु खराब मौसम के चलते नेपाल के हुमला जिले में फंसे हुए हैं. श्रद्धालुओं ने निजी टूर ऑपरेटरों पर उन्हें सुविधाएं ना देने का आरोप लगाया है. बता दें कि हर साल सैकड़ों भारतीय श्रद्धालु भगवान शिव के दर्शन करने के लिए कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाते हैं. बौद्ध और जैन धर्म के मामने वाले लोग भी भगवान शिव में गहरी आस्था रखते हैं.

बताया जा रहा है कि खराब मौसम के चलते श्रद्धालु नेपाल-चीन सीमा से सटे हिलसा इलाके में फंसे हुए हैं. जिनमें ज्यादातर यात्री तेलंगाना के रहने वाले हैं. जिनकी संख्या करीब 40 बताई जा रही है. श्रद्धालुओं का कहना है कि खराब मौसम के कारण वह यहां फंसे हुए हैं और निकल नहीं पा रहे हैं. उनका आरोप है कि कैलाश मानसरोवर यात्रा से लौटते समय ही ट्रैवेल एजेंसी ने उन्हें यहां छोड़ दिया. बता दें कि कैलाश मानसरोवर यात्री करीब 19,500 फुट की दुर्गम बर्फीले पहाड़ों की यात्रा कर भगवान शिव के दर्शन के लिए पहुंचते हैं.

कैलाश मानसरोवर यात्रियों में शामिल पंकज भटनागर का कहना है कि श्रद्धालुओं ने पिछले 13 जून को अपनी यात्रा शुरू की थी. तीर्थयात्री इस समय नेपाल-चीन बॉर्डर पर स्थित हिलसा शहर में फंसे हैं, जहां वे तिब्बत के बुरंग से पहुंचे थे. जहां से वह हेलीकॉप्टर द्वारा सिमीकोट के लिए रवाना हुए और इसके बाद नेपालगंज पहुंचे. पंकज भटनागर पंजाब के डेराबस्सी के रहने वाले हैं. वह बताते हैं कि यहां सुविधाओं का बहुत अभाव है और उन्हें रुक-रुक हो रही बारिश के चलते परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है

First published: 27 June 2019, 9:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी