Home » इंटरनेशनल » UN: india hints that china shielding terrorists
 

मसूद अजहर पर चीन के वीटो केे बाद भारत ने जतायी निराशा

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 April 2016, 14:32 IST

भारत ने पठानकोट आतंकवादी हमले के मास्टर माइंड और जैश ए मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र समिति के द्वारा बैन लगाने की कोशिश पर चीन के वीटो अधिकार का प्रयोग किये जाने पर निराशा जाहिर की है.

यूएन में हो रही न्यूक्लियर सिक्युरिटी समिट में भारत पठानकोट हमले के मास्टरमाइंड मसूद अजहर पर बैन की मांग कर रहा था लेकिन चीन ने इसपर वीटो लगाकर रोक दिया.

पढ़ें: अल-रहमत, जैश-ए-मोहम्मद और मसूद अजहर का आतंकी त्रिकोण

इस मामले में भारत की ओर से दिये गये बयान में कहा गया था कि साल 2001 से जैश संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैन लिस्ट में शामिल है क्योंकि वो आतंकी संगठन है और उसके अल-कायदा से लिंक हैं. लेकिन तकनीकी कारणों से जैश के मुखिया मसूद अजहर पर बैन नहीं लगाया जा सका.

भारत ने अपने बयान में आगे कहा कि इस तरह के आतंकी संगठनों को बैन न किए जाने का खमियाजा पूरी दुनिया को उठाना पड़ सकता है.

यूएन कमेटी में 31 मार्च को अजहर मसूद को बैन करने पर फैसला होना था. इसमें शामिल 15 में से 14 देश मसूद पर बैन के हक में थे. इनमें अमेरिका, यूके और फ्रांस जैसे देश प्रमुख थे, केवल चीन ने इस प्रस्ताव पर विरोध जताया और वीटो का इस्तेमाल करते हुए प्रस्ताव को गिरा दिया.

पढ़ें: जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर हिरासत में

चीन ने आधिकारिक तौर पर इस वीटो के बारे में कुछ नहीं बताया, लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि चीन ने यह कदम पाकिस्तान के समर्थन में उठाया.

चीन के इस मामले में वीटो अधिकार इस्तेमाल किये जाने के बाद केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि 'चीन ने बेहद गलत फैसला लिया है, विदेश मंत्रालय इस मामले को उठाएगा और विरोध दर्ज कराएगा.' मंत्री रिजिजू ने कहा कि भारत सरकार हर तरह से चीन के इस कदम का विरोध करेगी.

वहीं इस मामले में यूएन में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैय्यद अकबरुद्दीन ने कहा, 'इस मसले को हम ऐसे छोड़ने वाले नहीं हैं. हम यूएन में मसूद को बैन करवाने की पूरी कोशिश करेंगे.'

पढ़ें: 'मसूद अज़हर पाकिस्तान में आज़ाद घूम रहा है'

गौरतलब है कि जैश ए मोहम्मद का मुखिया मसूद अजहर वही आतंकी है, जिसे छुड़ाने के लिए कुछ आतंकियों ने साल 1999 में इंडियन एयरलाइन्स के प्लेन को हाईजैक कर लिया था.

भारत का कहना है कि मसूद अजहर ने पठानकोट के एयरबेस पर हमला करने वाले आतंकियों से पाकिस्तान के बहावलपुर में सैटेलाइट फोन के जरिए बातचीत की थी. वहीं पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अजहर मसूद बहावलपुर में रहता है. यहीं मसूद जैश के आतंकियों को ट्रेनिंग देता है.

First published: 2 April 2016, 14:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी