Home » इंटरनेशनल » United States: Video app TikTok fined $5.7 million for illegally collecting children’s data
 

इस गलती की वजह से चीन के वीडियो ऐप TikTok पर अमेरिका ने लगाया 40.42 करोड़ का जुर्माना

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 March 2019, 15:07 IST

 

चीनी मोबाइल एप्लिकेशन TikTok पर बिना माता-पिता की सहमति के बच्चों से अवैध रूप से निजी जानकारी एकत्र करने के लिए अमेरिका में 5.7 मिलियन डॉलर (लगभग 40.42 करोड़ रुपये) का जुर्माना लगाया गया है. यूएस फेडरल ट्रेड कमिशन ने बुधवार को कहा कि बच्चों की निजता से जुड़ी जांच में यह जुर्माना अब तक का सबसे बड़ा है. TikTok, जिसे पहले musical.ly के रूप में जाना जाता था, एक लोकप्रिय मोबाइल एप्लिकेशन है जो यूजर्स को वीडियो बनाने की अनुमति देता है.

ट्रेड कमीशन की शिकायत के अनुसार, न्याय विभाग द्वारा दायर की गई है. जिसमे कहा गया है कि एप ने बच्चों की ऑनलाइन गोपनीयता संरक्षण अधिनियम के प्रावधानों का उल्लंघन किया, जो वेबसाइटों और ऑनलाइन सेवाओं को 13 वर्ष से कम उम्र के बच्चों से व्यक्तिगत जानकारी एकत्र करने से पहले माता-पिता की सहमति प्राप्त करने के लिए निर्देशित करता है. फेडरल ने कहा, 'एप ने 13 साल से कम उम्र के उपयोगकर्ताओं से नाम, ईमेल पते और अन्य व्यक्तिगत जानकारी एकत्र करने से पहले माता-पिता की सहमति नहीं ली.

 

फेडरल ने कहा "यह रिकॉर्ड जुर्माना बच्चों को लक्षित करने वाली सभी ऑनलाइन सेवाओं और वेबसाइटों के लिए एक अनुस्मारक होना चाहिए. आयोग के अनुसार, TikTok को उपयोगकर्ताओं को एक ईमेल पता, फोन नंबर, उपयोगकर्ता नाम, पहला और अंतिम नाम, एक छोटी जीवनी और एक प्रोफ़ाइल चित्र प्रदान करना आवश्यक है. अधिकारियों ने कहा कि ऐप इस बात से अवगत था कि उसका यूजर्स 13 साल से कम उम्र का था.

पिछले महीने, तमिलनाडु सरकार ने कहा था कि वह TikTok पर प्रतिबंध लगाने के लिए केंद्र की मदद लेगी, यह दावा करते हुए कि यह भारतीय संस्कृति के लिए "हानिकारक" है. ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम के विधायक थामिमुन अंसारी ने दावा किया था कि ऐप युवा पीढ़ी को सांस्कृतिक पतन की राह पर धकेल रहा है और इससे यौन विषयक सामग्री फैल रही है.

ICICI-Videocon लोन मामला : चंदा कोचर और वेणुगोपाल धूत पर ईडी की छापेमारी

First published: 1 March 2019, 15:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी