Home » इंटरनेशनल » US ban Mysterious Chinese-State Oil Trader Zhuhai Zhenrong
 

प्रतिबंध के बावजूद भी ईरान से तेल खरीद रही थी चीनी कंपनी, अमेरिका ने लगाया बैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 July 2019, 16:08 IST

ईरानी क्रूड पर प्रतिबंध का उल्लंघन करने के लिए व्हाइट हाउस ने चीनी की सरकारी आयल ट्रेडिंग कंपनी पर प्रतिबंध लगा दिया है. कंपनी की स्थापना 1990 के दशक के मध्य में एक दिग्गज चीनी व्यापारी यांग क्विंगलोंग ने चीनी सेना के समर्थन से की थी. 1980-1988 के ईरान-इराक युद्ध के दौरान हथियारों के लिए भुगतान के रूप में सशस्त्र बल अभी भी इस्लामिक गणराज्य से शिपमेंट प्राप्त कर रहे थे. 2012 की शुरुआत में जब ओबामा प्रशासन ने ईरान पर प्रतिबंध लगाया तब फारस की खाड़ी के राष्ट्र में गैसोलीन की बिक्री में शामिल होने के कारण जेनरॉन्ग को निशाना बनाया था.

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार जेनरॉन्ग ने प्रतिबंधों के बावजूद ईरानी कच्चे तेल और ईंधन के तेल का आयात जारी रखा, अमेरिका द्वारा ओपेक निर्माता के साथ व्यवहार को प्रतिबंधित करने और अपनी परमाणु महत्वाकांक्षाओं पर देश को अलग करने के प्रयासों की अनदेखी की. ईरान के खिलाफ प्रतिबंधों को 2015 में हटा दिया गया था जब तेहरान ने अपने परमाणु कार्यक्रम पर एक समझौते पर सहमति व्यक्त की थी, लेकिन पिछले साल ट्रम्प प्रशासन द्वारा फिर से लागू किया गया. मई में अमेरिका ने ईरानी क्रूड को खरीदने के लिए चीन सहित कुछ देशों को दी गई छूट खत्म कर दी.

 

अमेरिकी प्रतिबंधों के बावजूद ज़ुहाई जेनरॉन्ग ईरानी तेल खरीदता रहता है. उसने ईरान से प्रतिबन्ध के बावजूद पहले पांच महीनों में औसतन 156,000 बैरल प्रति दिन का आयात किया, जबकि 2018 में लगभग 106,000 और 2017 में 157,000 बैरल का आयात किया गया था. प्रतिबंधों की घोषणा करते हुए अमेरिकी राज्य विभाग ने कहा कि 2 मई को प्रतिबंधों के पूरी तरह से लागू होने के बाद जेनरॉन्ग ने ईरान से कच्चे तेल की खरीद जानबूझकर की.

चीनी कंपनियों को ईरान के साथ तेल ऋणों के निपटान के लिए वस्तु विनिमय व्यापार में भाग लेने या यू.एस. डॉलर के उपयोग से बचने और प्रतिबंधों के प्रभाव को सीमित करने के लिए चीनी बैंकों में एस्क्रौ भुगतान करने के लिए जाना जाता है. इस वर्ष मई में FGE का पूर्वानुमान है कि चीन ईरानी क्रूड के एक दिन में लगभग 260,000 बैरल आयात करना जारी रखेगा और आने वाले महीनों में निर्यात को कम करेगा.

उद्योग सलाहकार ने एक नोट में कहा कि 70% से अधिक संभावना जेनरॉन्ग द्वारा खरीदी जाएगी. सोमवार को नए प्रतिबंधों की घोषणा करते हुए अमेरिकी विदेश मंत्री माइकल पोम्पिओ ने कहा कि उन्हें कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, ली यूमिन पर भी प्रतिबन्ध लगाया जाएगा.

आम्रपाली ग्रुप केस: सुप्रीम कोर्ट ने 42,000 खरीदारों को दी राहत, रेरा पंजीकरण किया रद्द

First published: 23 July 2019, 16:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी