Home » इंटरनेशनल » US-france-russia diplomatic tension in United States on Syria strike, Donald trump
 

अब सीरिया हमले को लेकर अमेरिका-रूस में डिप्लोमेसी वार शुरू, पहुंचे UNO

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 April 2018, 18:04 IST

सीरिया पर मिसाइल हमले को लेकर अमेरिका और रूस आमने सामने आ गए हैं. दोनों के बीच अब कूटनीतिक भी युद्ध शुरू हो गया है. अब यह मामला संयुक्त राष्ट्र संघ में पहुंच गया है. जहां अमेरिका के साथ ब्रिटेन और फ्रांस खड़े हैं. वहीं रूस को चीन का साथ मिल रहा है. रूस ने अमेरिका के इस हमले को अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन बताया था.

रूस ने इस हमले की निंदा करते हुए सुरक्षा परिषद की आपात बैठक बुलाकर अमेरिका के सीरिया पर मिसाइल हमले के खिलाफ निंदा प्रस्ताव रखा. जिसको सुरक्षा परिषद ने खारिज कर दिया है. हालांकि इस मुद्दे पर रूस को चीन, ईरान जैसे देशों का साथ मिला है. चीन, ईरान, सीरिया ने अमेरिका के इस मिसाइल हमले की कड़ी निंदा की है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रूस ने सुरक्षा परिषद में निंदा प्रस्ताव रखते हुए सीरिया पर किए गए मिसाइल हमले को अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन बताया. हालांकि सुरक्षा परिषद ने रूस के निंदा प्रस्ताव को खारिज कर दिया है. दूसरी तरफ अमेरिका, फ्रांस और ब्रिटेन ने इस कार्रवाई को सही ठहराया है.

सीरिया पर हमला करने के बाद अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस भी सुरक्षा परिषद पहुंच गए हैं. फ्रांस ने सुरक्षा परिषद में सीरिया में हो रहे केमिकल हमले की जांच करने की मांग की है. जिसका अमेरिका और ब्रिटेन ने समर्थन किया है. अमेरिका सीरिया में नागरिकों पर हो रहे केमिकल हमले के लिए बशर अल-असद सरकार, रूस और ईरान को जिम्मेदार बताया है.

सीरिया पर कार्रवाई आखिरी विकल्प

ब्रिटेन ने सीरिया पर मिसाइल हमले को सही ठहराते हुए इसको आखिरी विकल्प बताया है. वहीं फ्रांस की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने कहा कि सीरिया अपने ही देश के नागरिकों पर केमिकल हमले कर रहा है, जो अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन है. जबकि रूस ने सीरिया पर सैन्य कार्रवाई के प्रस्ताव को वीटो पावर का इस्तेमाल कर रोक दिया था.

फ्रांस ने कहा कि हम दुनिया के देशों से इस हमले का समर्थन करने की अपील करते हैं. अमेरिका ने भी सीरिया हमले को सही ठहराते हुए कहा है कि अगर सीरिया ने फिर से केमिकल हमले किए तो हम और सहयोगी देश फिर से सीरिया पर मिसाइल हमला करेंगे. अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनाल्ड ट्रंप ने सीरिया में हो रहे केमिकल हमले के लिए रूस और ईरान को जिम्मेदार बताया है.

First published: 15 April 2018, 18:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी