Home » इंटरनेशनल » US MOAB air strike: 90 ISIS terrorists killed in the attack
 

Mother of All Bombs अटैक: ISIS के 90 आतंकियों का सफ़ाया

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 April 2017, 15:00 IST
(सांकेतिक तस्वीर)

अफगानिस्तान के नंगरहार में दस हजार किलो के मदर ऑफ ऑल बॉम्ब्स अटैक में आईएस के 90 आतंकियों के मारे जाने की खबर है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश के बाद पाकिस्तान से लगते अफगानिस्तान के इलाके में यह सबसे बड़ा नॉन न्यूक्लियर बम गिराया गया था.

समाचार एजेंसी एएफपी ने अफगान अधिकारियों के हवाले से खबर दी है कि इस हमले में इस्लामिक स्टेट (ISIS) के 90 आतंकियों की मौैत हो चुकी है. पहले खबर आई थी कि हमले में 36 आतंकी मारे गए हैं. हालांकि आईएसआईएस की तरफ से कहा गया है कि हमले में उसका कोई लड़ाका नहीं मारा गया है. विदेशी समाचार एजेंसियों से ये भी ख़बर मिली है कि इस हमले में केरल का भी एक युवक मारा गया है.

ISIS के ठिकाने पर फेंका 10 हजार किलो का बम

अफगानिस्तान में आतंकी संगठन आईएसआईएस (इस्लामिक स्टेट) के ठिकाने पर अमेरिका ने अब तक का सबसे बड़ा हमला किया है. पूर्वी अफगानिस्तान के नंगरहार में अमेरिका ने सबसे बड़ा 10 हजार किलो का गैर परमाणु बम गिराया है. इसे मदर ऑफ ऑल बॉम्ब यानी एमओएबी के नाम से भी जाना जाता है.

GBU-43 नाम का ये नॉन न्यूक्लियर बम तकरीबन 21,000 पाउंड का है. पाकिस्तान बॉर्डर के पास अफगानिस्तान के नंगरहार में आईएसआईएस की सुरंगों को निशाना बनाते हुए ये हमला किया गया. पाकिस्तान सीमा से ये जगह करीब 60 किलोमीटर दूर है.

अमेरिकी रक्षा विभाग यानी पेंटागन का कहना है, "स्थानीय समय के अनुसार शाम 7 बजकर 32 मिनट पर गिराए गए इस सबसे बड़े गैर परमाणु बम के जरिये उन गुफाओं को निशाना बनाया गया, जहां आईएस के आतंकियों ने पनाह ले रखी थी." मार्च 2003 में इराक युद्ध शुरू होने से पहले अमेरिका ने जीपीएस से ऑपरेटेड इस बम का परीक्षण किया था.

First published: 15 April 2017, 15:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी