Home » इंटरनेशनल » US President Trump paying huge amount to German company for Coronavirus vaccine
 

Coronavirus: 'बड़ी रकम देकर ट्रंप कर रहे थे जर्मन कंपनी से कोरोना की वैक्सीन के लिए डील'

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 March 2020, 10:15 IST

कोरोना वायरस (Coronavirus) के वैक्सीन को लेकर दुनियाभर के वैज्ञानिक दिन रात एक करने में लगे हुए हैं. इसकी वैक्सीन को लेकर जर्मनी और अमेरिका में ताजा विवाद सामने आया है. अमेरिकी और कुछ ब्रिटिश अख़बारों में रिपोर्ट आयी थी कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने एक जर्मन कंपनी को कोरोना वायरस वैक्सीन के बदले बड़ी रकम ऑफर की है. इस खबर के बाद जर्मन मंत्रियों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. इकोनॉमी मिनिस्टर पीटर अल्तमैयर का कहना है कि "जर्मनी बिक्री के लिए नहीं है."

जर्मनी के एक बड़े अख़बार ने अपनी फ्रंट पेज स्टोरी में कहा है कि ट्रंप ने जर्मन बायोफर्मासिटिकल कंपनी क्योरवैक को वैक्सीन 1 के लिए बिलियन डॉलर की पेशकश की थी. जबकि जर्मन सरकार कथित तौर पर देश में रहने के लिए वैक्सीन के लिए अपने स्वयं के वित्तीय प्रोत्साहन की पेशकश कर रही है. बर्लिन ने इस घटना पर रोष व्यक्त किया है. 

गार्डियन की रिपोर्ट के अनुसार जर्मनी के विदेश मंत्री हेइको मास ने कहा "हम इस बात की अनुमति नहीं दे सकते हैं कि जर्मन शोधकर्ता की मेहनत का फायदा किसी अन्य को मिले. जर्मन संसद की स्वास्थ्य समिति के सांसद इरविन रूडेल ने कहा "अंतर्राष्ट्रीय सहयोग अब महत्वपूर्ण है, राष्ट्रीय स्वार्थ नहीं." यह खबर तब सामने आयी थी जब पिछले हफ्ते रहस्यमय तरीके से फर्म ने घोषणा की कि CureVac के सीईओ डैनियल मेनिचेला को बदल दिया गया है.

 

डैनियल मेनिचेला को तब बदला गया जब उन्होंने एक हफ्ते पहले अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप से मुलाकात की थी. CureVac ने उनकी यात्रा के तुरंत बाद अपनी वेबसाइट पर कहा, "हम बहुत आश्वस्त हैं कि हम कुछ महीनों के भीतर एक शक्तिशाली वैक्सीन विकसित करने में सक्षम होंगे." रविवार को CureVac के निवेशकों ने कहा कि वे एक देश को को वैक्सीन नहीं बेचेंगे.

कोरोना वायरस को मात देने की तैयारी पूरी! अमेरिका ने किया वैक्सीन बनाने का दावा

First published: 17 March 2020, 10:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी