Home » इंटरनेशनल » US presidential election: Donald Trump is Republican nominee
 

राष्ट्रपति की दौड़: रिपब्लिकन उम्मीदवार बने डोनल्ड ट्रंप का 'विवादित सफर'

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 May 2016, 16:09 IST

जून, 2015 में पहली बार रियल स्टेट कारोबारी और अरबपति डोनल्ड ट्रंप ने अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी. अब दस महीने बाद औपचारिक तौर पर कभी चुनाव नहीं लड़ने वाले ट्रंप का रिपब्लिन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति उम्मीदवार बनने का रास्ता साफ हो गया है.

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति आइजनहावर के बाद ट्रंप रिपब्लिकन पार्टी के ऐसे पहले उम्मीदवार बनने की राह पर हैं जिन्होंने किसी निर्वाचित कार्यालय में काम नहीं किया है. आइजनहावर द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान यूरोप में संयुक्त बलों के कमांडर थे.

मंगलवार को इंडियाना में हुई प्राइमरी में ट्रंप को जीत मिली थी. इसके बाद उनके निकटतम प्रतिद्वंदी टेक्सस से सीनेटर टेड क्रूज और ओहायो के गर्वनर जॉन कासिज ने राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की रेस से हटने का फैसला किया.

पढ़ें:' ट्रंप कभी नहीं बन पाएंगे अमेरिका के राष्ट्रपति'

इससे पहले फ्लोरिडा के गवर्नर मार्को रूबियो ने मार्च महीने में उम्मीदवारी की रेस से हट जाने का फैसला किया था. इन तीनों हट जाने के बाद ट्रंप के सामने अब कोई चुनौती नहीं बची है. वह अब तक 1041 डेलिगेट्स जीत चुके हैं. उन्हें  उम्मीदवारी हासिल करने के लिए 1237 डेलिगेट्स के समर्थन की जरूरत है.

लगातार विवादास्पद बयान देने के चलते चर्चा में रहने वाले ट्रंप को अपनी ही पार्टी के नेताओं के द्वारा आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा है. हालांकि ट्रंप के समर्थन में आने वाले नेताओं की भी कमी नहीं है.

एक समय ट्रंप को अहंकारी और खतरनाक बताने वाले लुइसियाना के पूर्व गर्वनर बॉबी जिंदल ने कहा कि यदि ट्रंप रिपब्लिकन उम्मीदवार बनते हैं, तो वह उनके लिए मतदान करेंगे. उन्होंने तर्क दिया कि वह डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से संभावित उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन से बेहतर हैं.

एक दिन पोप भी कहेंगे काश ट्रंप राष्ट्रपति होता...

14 जून, 1946 को न्यूयॉर्क में जन्मे ट्रंप रियल स्टेट कंपनी ट्रंप आर्गेनाइजेशन के चेयनमैन हैं. 69 वर्षीय रियल एस्टेट की दुनिया में एक बेहद सफल कारोबारी के तौर पर जाने जाते हैं. फोर्ब्स मैगजीन के अनुसार ट्रंप दुनिया के अमीर व्यक्तियों की सूची में 389वें नंबर हैं और उनकी संपत्ति करीब 4.5 अरब डॉलर है.

राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी के पहले दौर में ट्रंप को हार का सामना करना पड़ा था. आयोवा में हुए मतदान में रिपब्लिकन पार्टी के शीर्ष दावेदार माने जा रहे ट्रंप को टेक्सास के सीनेटर टेड क्रूज ने हराया था.

ट्रंप के कुछ चर्चित और विवादास्पद बयान:

'अमेरिका में मुसलमानों पर प्रतिबंध'

ट्रंप मुस्मिल विरोधी बयान देने के चलते सुर्खियों में रहते हैं. दिसंबर, 2015 में उन्होंने पहली बार कहा था कि अमेरिका में चरमपंथी हमले रोकने के लिए मुसलमानों के अमरीका में प्रवेश पर रोक लगाना जरूरी है. उन्होंने अपना बयान आज तक वापस नहीं लिया है.

27 फीसदी मुस्लिम आतंकी सोच रखने वाले: ट्रंप

इसके अलावा मार्च के महीने में ट्रंप ने फॉक्स न्‍यूज एजेंसी को दिए इंटरव्यू में कहा था, 'आतंकियों जैसी सोच रखने वाले मुस्लिम 27 फीसदी हैं. अगर युद्ध जैसी नौबत आई तो यह संख्या 35 फीसदी भी हो सकती है. नफरत बढ़ती जा रही है.'

ट्रंप अमेरिका में मुसलमानों की विशेष निगरानी करने का सुझाव दे चुके हैं. उनके इस बयान में अमेरिका में काफी हंगामा मचा.

पोप से उलझे

फरवरी, 2016 में पोप फ्रांसिस ने कहा था कि ट्रंप अगर अमेरिका और मैक्सिको के बीच दीवार खड़ी करने की बात करते हैं तो इसका अर्थ यह है कि वह 'ईसाई' नहीं हैं. सीएनएन की रपट के अनुसार, पोप ने कैथलिक समुदाय से ट्रंप को वोट नहीं देने की अपील नहीं की थी.

इसके बाद ट्रंप ने पोप पर पलटवार करते हुए कहा, 'अगर कभी इस्लामिक स्टेट ने वैटिकन पर हमला किया, जो कि सभी लोग जानते हैं कि आईएस की आखिरी ख्वाहिश है, तो मेरी बात मान लीजिए कि पोप उस वक्त बस यही एक इच्छा करेंगे कि काश ट्रंप राष्ट्रपति होता...'

अमेरिका और मेक्सिको के बीच दीवार

ट्रंप के अनुसार अमेरिका में रहने वाले 1.1 अवैध अप्रवासियों को वापस भेज देना चाहिए. वह अवैध अप्रवासियों को रोकने के लिए अमेरिका और मेक्सिको के बीच दीवार खड़ी करना चाहते है. उनके अनुसार मेक्सिको से आने वाले ज्यादातर लोग अपराधी हैं जो अपने साथ ड्रग्स लाते हैं.

सद्दाम और गद्दाफी जिंदा होते तो अच्छा होता

अक्टूबर, 2015 में ट्रंप ने यह कहकर विवाद पैदा कर दिया कि अगर अब भी इराक में सद्दाम हुसैन और लीबिया में कर्नल गद्दाफी का शासन होता तो दुनिया एक बेहतर जगह होती. वह मध्यपूर्व में अमेरिकी सैन्य अभियानों को नाकाम करार दे चुके हैं.

कुछ महीने पहले अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप पर चुटकी ली थी. ओबामा ने कहा है कि अमेरिकी लोग काफी समझदार हैं, जो ट्रंप को राष्ट्रपति के रूप में नहीं चुनेंगे. 69 साल के ट्रंप अगर राष्ट्रपति पद का चुनाव जीतते हैं तो वे अमेरिकी इतिहास में सबसे अधिक उम्र के राष्ट्रपति होंगे.

First published: 5 May 2016, 16:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी