Home » इंटरनेशनल » US to decide in three months whether to scrap work permits for spouses of H-1B visa holders
 

H-1B वीजा धारकों के संबंधी US में नौकरी कर पाएंगे या नहीं, तीन महीने के भीतर होगा फैसला

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 September 2018, 13:10 IST

अमेरिका एच -1 बी वीजा धारकों के पति / पत्नी के लिए वर्क परमिट रद्द करने पर तीन महीने के भीतर फैसला करेगा. डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी ने अमेरिका की फेडरल कोर्ट को यह जानकारी दी. पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के दौर में नियम एच -1 बी वीजा धारकों के पति / पत्नी को एच-4 आश्रित वीजा पर अमेरिका में काम करने के लिए ग्रीन कार्ड की प्रतीक्षा करने की अनुमति देता था.

गौरतलब है कि अमेरिका में सभी एच -1बी वर्कर्स में से लगभग 70% भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में शामिल हैं. होमलैंड सिक्योरिटी विभाग ने पहली बार दिसंबर 2017 में श्रमिकों के पति / पत्नी के लिए वर्क परमिट की सिफारिश की थी. इस कदम से बड़ी संख्या में भारतीय श्रमिकों के प्रभावित करने की संभावना है, जो अमेरिका में काम करने से निराश हो सकते हैं.

 

विभाग ने एक अदालत में कहा कि प्रशासन रोजगार प्राधिकरण के लिए पात्र एलियंस के वर्ग के रूप में एच -1 बी गैर-आप्रवासियों के कुछ एच -4 पति / पत्नी के नियमों को हटाने के प्रस्ताव में ठोस और तेज प्रगति कर रहा है." यह कहा गया है कि नया नियम व्हाईट हाउस में तीन महीने के भीतर जमा कर दिया जाएगा.

विभाग ने अदालत से अनुरोध किया कि जब तक प्रशासन निर्णय नहीं ले लेता है, तब तक सेव जॉब्स यूएसए द्वारा दायर मुकदमे पर अपने फैसले को बरकरार रखे जाएं. विभाग 19 नवंबर को अपनी अगली स्टेटस रिपोर्ट जमा करेगा.

ये भी पढ़ें : राफेल डील : पूर्व फ्रेंच प्रेजिडेंट के खुलासे के बाद फ्रांस सरकार ने दी ये सफाई

First published: 22 September 2018, 13:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी