Home » इंटरनेशनल » USA Snubs Pakistani Prime Minister Nawaz Sharif, Says Pakistani People Would Decide His Fate
 

अमेरिका ने छोड़ा साथ, अकेले पड़े नवाज

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 April 2016, 14:25 IST
QUICK PILL
  • नवाज शरीफ के इस्तीफे की तेज होती मांग के बीच अमेरिका ने भी उनसे दूरी बना ली है. पनामा लीक में नाम सामने आने के बाद अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा, \'पाकिस्तानी लोगों को यह तय करना होगा कि नवाज शरीफ इस्तीफा दे या नहीं. हम पहले भी यही कहते रहे हैं.\'
  • पाकिस्तान की दूसरी बड़ी विपक्षी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ शरीफ के इस्तीफे की मांग को लेकर आक्रामक है. पीटीआई का कहना है, \'शरीफ के पास शासन में बने रहने का अब कोई नैतिक अधिकार नहीं है. पार्टी ने मौजूदा चीफ जस्टिस से पूरे मामले की जांच कराए जाने की मांग की है.\'

नवाज शरीफ के इस्तीफे की तेज होती मांग के बीच अमेरिका ने भी उनसे दूरी बना ली है. पनामा लीक में नाम सामने आने के बाद शरीफ के इस्तीफे की अटकलें तेज हो गई हैं. ऐसे में अमेरिका का शरीफ से दूरी बना लेना उनके लिए बड़ा झटका है.

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा, 'पाकिस्तानी लोगों को यह तय करना होगा कि नवाज शरीफ इस्तीफा दें या नहीं. हम पहले भी यही कहते रहे हैं.'

पनामा पेपर्स लीक में नवाज शरीफ के तीनों बच्चों का नाम सामने आया था. तीनों बच्चों के विदेशी कंपनियों में मालिकाना हक की खबर सामने आने के बाद उन्होंने पूरे मामले की जांच कराने के लिए उच्च स्तरीय न्यायिक आयोग के गठन की घोषणा की थी. हालांकि इसके बावजूद शरीफ पर राजनीतिक दबाव बढ़ता ही जा रहा है.

अमेरिका ने छोड़ा साथ

किर्बी ने कहा कि अमेरिका भ्रष्टाचार के मामलों को बेहद गंभीरता से लेता है. किर्बी ने कहा, 'लेकिन जहां तक इस मामले की बात है तो इसमें पाकिस्तान के नागरिकों को फैसला लेना है.'

अमेरिका विदेश मंत्रालय से यह पूछा गया था कि क्या वह पनामा लीक में फंसे पाकिस्तान के निर्वाचित प्रधानमंत्री का साथ देगा. 

पनामा पेपर्स लीक में नवाज शरीफ के तीनों बच्चों का नाम सामने आया है

पनामा लीक के बाद पाकिस्तान के विपक्षी दल न्यायिक जांच आयोग की रिपोर्ट के आने से पहले शरीफ के इस्तीफा को लेकर विभाजित नजर आ रहे हैं. आयोग शरीफ के परिवार वालों की विदेश में संपत्ति जमा किए जाने के मामले की जांच कर रहा है. 

आक्रामक इमरान

पाकिस्तान की दूसरी बड़ी विपक्षी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) शरीफ के इस्तीफे की मांग को लेकर आक्रामक है. 

पीटीआई का कहना है, 'शरीफ के पास शासन में बने रहने का अब कोई नैतिक अधिकार नहीं है.' पार्टी ने मौजूदा चीफ जस्टिस से पूरे मामले की जांच कराए जाने की मांग की है.

वहीं पाकिस्तान की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) भी मामले की जांच मौजूदा चीफ जस्टिस से कराए जाने को लेकर सहमत है. लेकिन शरीफ के इस्तीफे को लेकर पार्टी का कहना है कि वइ इस मामले में जांच आयोग की रिपोर्ट आने का इंतजार करेगी. 

फिलहाल नवाज शरीफ अपने स्वास्थ्य चेक अप के लिए लंदन गए हुए हैं. शरीफ के पाकिस्तान से बाहर जाने के बाद पाकिस्तान में कई तरह की अटकलें लगाई जाने लगी थीं. जिसके बाद सरकार ने सफाई देते हुए कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री किसी गुप्त बैठक के लिए नहीं बल्कि नियमित स्वास्थ्य जांच के लिए लंदन गए हुए हैं.

और पढ़ें: पाक का दावा, एनएसजी में चीन रोकेगा भारत की एंट्री

और पढ़ें: ईबे ने लगाई 'बेकार' पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की सेल

First published: 15 April 2016, 14:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी