Home » इंटरनेशनल » Vijay Malya like case in pakistan, private airlines owner fraud of 1.36 billions
 

कर्ज में डूबे पाकिस्तान को एक और झटका, 'विजय माल्या' ने लगाई 1.36 बिलियन की चपत

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 December 2018, 12:40 IST

पाकिस्तान की खस्ता आर्थिक हालत इस समय पूरी दुनिया के सामने आ चुकी है. एक तरफ जहां भारी कर्ज के कारण पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान आर्थिक स्थिति को संभालने में लगे हुए हैं. इसे लेकर उन्होंने आईएमएफ से भी मदद की गुहार लगाई थी. ऐसे में पाकिस्तान में भी एक 'विजय माल्या' जैसा केस सामने आया है. पाकिस्तान की एक निजी एयरलाइन के मालिक पर 1.36 बिलियन लेकर विदेश भागने का आरोप है. पाकिस्तान की निजी एयरलाइन शाहीन एयर इंटरनेशनल पर आरोप है कि वो मुल्क के करोड़ों रुपये का घोटाला करके विदेश भाग गया है.

ध्यान देने की बात ये हैं कि इस एयरलाइन के चेयरमैन काशिफ महमूद सहबई और इसके सीईओ एहसान खालिद सहबई का नाम पहले से ही 'एक्जिट कंट्रोल लिस्ट' में शामिल है. इस लिस्ट में शामिल होने का मतलब है कि ये लोग देश छोड़कर नहीं भाग सकते हैं. लेकिन पाकिस्तान में ये दोनों लिस्ट में नाम होने के बावजूद भी करोड़ों का घोटाला करके विदेश भागने में सफल हो गए.

इन दोनों पर एयर लाइन ऑपरेशन का भी 136 लाख रुपये(भारतीय मुद्रा) बकाया है. गौरतलब है कि इन दोनों की भागने की आशंका पहले से ही पकिस्तान के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) को थी. इसी के चलते पाक्सितान के गृह मंत्रालय को भी इस बारे में जानकारी दी गई थी.

इस एयरलाइन की कई घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ाने 2 महीने से रद्द चल रही थीं. अक्तूबर महीने से ही इस एयरलाइन की कई उड़ने रद्द थीं. वहीं एयरलाइन के आंकड़ें देखें तो कंपनी के करीब 3000 कर्मचारियों को कई महीनों से सैलरी नहीं दी गई थी. सैलरी न मिलने को लेकर एयरलाइन के कर्मचारी प्रदर्शन भी कर रहे थे. इतना ही नहीं इस मामले को लेकर कंपनी के खिलाफ कोर्ट भी पहुंचे हैं.

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान को बुरे वक़्त में मिला भारत के इस विरोधी देश का साथ, PM मोदी की बढ़ सकती है चिंता !

पाकिस्तान के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के एक अधिकारी के अनुसार, ''साई के घोटाले की जानकारी हमने सितंबर माह में ही गृहमंत्रालय को सौंप दी थी. साथ ही उन अधिकारियों को भी सूचना दी थी कि इनदोनों के नाम एक्जिट कंट्रोल लिस्ट में डाले जाएं क्योंकि ये दोनों देश से कभी भी भाग सकते हैं. लेकिन हमारे अनुरोध को सुना नहीं गया और साई के दोनों मालिक देश छोड़कर भागने में कामयाब हो गए हैं.''

पाकिस्तानी के अखबार डॉन के अनुसार सीएए के पास इस एयरलाइन के आठ विमान हैं क्योंकि ये विमान उड़ान भरने की स्थिति में नहीं है. इन विमानों के लिए सीएए साई पार्किंग शुल्क भी लेता है.

 

किंगफिशर के विजय माल्या जैसा है पूरा मामला

पाकिस्तान के द डॉन ने अपनी रिपोर्ट में बताया, ''जब कंपनी के विदेशी इनवेस्टमेंट के बारे में पूछताछ की गई तो अधिकारी ने बताया कि एयरलाइन का बाजार खराब होने की वजह से निवेश के लिए कोई विदेशी संस्था आगे नहीं आई.''

वहीं अगर एक दूसरे कर्मचारी की मानें तो इस एयरलाइन के पास स्थानीय और विदेशी प्रॉपर्टी मिलाकर करीब 18 बिलियन की कुल संपत्ति है. इतना ही नहीं साल 2006 से साल 2016 तक एयरलाइन कंपनी फायदे में भी ही रही है. एयरलाइन को मुनाफे का एक बड़ा भाग खाड़ी देशों के रूट पर मिला है. इतना ही नहीं कर्मचारियों ने बताया कि पिछले दस से ज्यादा सालों से एयरलाइन अच्छा व्यापार कर रही है.

First published: 8 December 2018, 10:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी