Home » इंटरनेशनल » vladimir putin: panama papers of us plot to weaken russia
 

ब्लादिमिर पुतिन: पनामा पेपर्स के जरिए अमेरिका रूस को कमजोर करना चाहता है

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:51 IST

रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमिर पुतिन ने शुक्रवार को विदेशों में कोई भी खाता होने से इनकार करते हुए कहा कि पनामा पेपर्स दस्तावेज के जरिए अमेरिका रूस को कमजोर करने का षड्यंत्र रच रहा है.

राष्ट्रपति पुतिन ने विदेश में कंपनी चलाने का आरोप झेल रहे अपने संगीतकार मित्र का बचाव करते हुए उन्हें सेवा और संगीत में योगदान देने वाले व्यक्ति के बारे में ऐसा आरोप लगाया है, जो रूस के सरकारी संग्रह के लिए विश्व भर से दुर्लभ वाद्य यंत्र खरीदता है.

सेंट पीट्सबर्ग में मीडिया से बातचीत करते हुए पुतिन ने कहा कि 'पश्चिमी मीडिया ने विदेशी व्यावसाय में उनका नाम होने का दावा किया, जबकि पनामा पेपर्स के किसी भी दस्तावेज में उनका नाम ही नहीं है'.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक पुतिन ने इन आरोपों को अमेरिका की साजिश बताया है. रूस के राष्ट्रपति ने इस मामले में कहा कि, ‘वह हमें अंदरूनी तौर पर कमजोर करना चाहते हैं ताकि हमें और भी नरम कर सकें.’

गैरतलब है कि वाशिंगटन स्थित ‘इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट’ ने कहा है कि उसे जो दस्तावेज मिले हैं, वह संकेत करते हैं कि संगीतकार सेरगी रोल्डुगिन पुतिन के वफादारों और संभवत: स्वयं राष्ट्रपति के लिए परोक्ष तौर पर काम करते थे'.

इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट का कहना है कि दस्तावेज दिखाते हैं कि कैसे एक जटिल विदेशी वित्तीय सौदे के माध्यम से दो अरब डॉलर रूसी राष्ट्रपति से जुड़े लोगों तक पहुंचा है. पुतिन ने कहा कि 'मेरे पुराने मित्र रोल्डुगिन ने कुछ गलत या गैरकानूनी काम नहीं किया है'.

ब्लादिमिर पुतिन ने कहा कि उन्हें रोल्डुगिन पर गर्व है, जिसने अपना व्यक्तिगत धन सांस्कृतिक परियोजनाओं पर खर्च किया है. उन्होंने कहा कि 'रूसी कंपनी में अपनी छोटी सी हिस्सेदारी से रोल्डुगिन जो धन कमाते हैं, उसका प्रयोग कर वह दुर्लभ वाद्य यंत्र खरीदते हैं और उन्हें रूस को सौंप देते हैं'. पुतिन ने दलील दी कि अमेरिका, रूस की बढ़ती आर्थिक और सैन्य शक्ति से चिंतित है'.

First published: 8 April 2016, 8:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी