Home » इंटरनेशनल » Washington: PM Modi addresses the USIBC programme in presence of leading CEOs
 

भारत में अगले तीन साल में तीन लाख करोड़ का अमेरिकी निवेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 June 2016, 13:33 IST
(एमईए ट्विटर)

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल (यूएसआईबीसी) के कार्यक्रम में शिरकत की. इस दौरान अमेरिका की शीर्ष 25 कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मौजूद रहे.

पेप्सिको की इंदिरा नूई से लेकर अमेजॉन के जेफ बेजोस तक यूएसआईबीसी के सम्मेलन में शामिल हुए. इस दौरान 15 अमेरिकी सांसद भी पहुंचे. पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दौरान भारत में निवेश और कारोबार के लिए बने अच्छे माहौल के बारे में बताया.

अमेजॉन करेगी 20 हजार करोड़ का निवेश

मीटिंग के बाद बिजनेस काउंसिल ने कहा कि अमेरिकी कंपनियां अगले तीन साल में भारत में 45 अरब डॉलर यानी करीब 3 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेंगी. वहीं फ्लिपकार्ट और स्नैपडील से मुकाबले के लिए अमेजॉन भारत में 20 हजार करोड़ का निवेश करेगी.

अमेजन के एलान से संकेत मिले हैं कि कंपनी भारत में डिस्काउंट्स, विज्ञापन और लॉजिस्टिक्स पर अपना खर्च बढ़ाएगी. 2014 में कंपनी ने भारत में 13400 करोड़ रुपये का निवेश किया था. अमेजॉन के सीईओ बेजोस का कहना है कि कंपनी भारत में 45 हजार लोगों को रोजगार दे चुकी है.

पीएम मोदी ने संबोधन के दौरान कहा, "भारत सिर्फ बढ़ता और उभरता हुआ बाजार नहीं है. भारत विश्वसनीय सहयोगी है. यहां अापको हाई क्वालिटी साइंटिफिक, इंजीनियरिंग और मैनेजरियल टैलेंट मिलेगा."

पीएम मोदी ने वॉशिंगटन में अमेरिकी सीईओ के साथ बिजनेस राउंड टेबल मीटिंग की. इसमें इंडिया-यूएस बिजनेस रिलेशन्स पर बात हुई. पीएम मोदी ने कहा, ''भारत की इकोनॉमी मजबूत है और दुनिया की जरूरतों को पूरा करती टैलेंटेड वर्क फोर्स हमारे पास मौजूद है."

साथ ही पीएम मोदी ने यूएसआईबीसी को संबोधित करते हुए कहा, "अमेरिकी पूंजी और प्रगतिशील सोच के साथ भारतीय मानव संसाधन और उद्यमिता की साझेदारी से बहुत मजबूत कारोबार हो सकता है."

पीएम मोदी ने कहा कि सोलर एनर्जी और डिजिटल इंडिया जैसे सेक्टर्स में मौके हैं. हमारी सरकार सुझावों पर गौर करेगी और अच्छा कारोबारी माहौल बनाएगी.

पीएम ने कहा, "प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत 20 करोड़ खाते खोले गए हैं. यह आंकड़ा इतना है, जितनी दुनिया के कई देशों की आबादी नहीं है. जनधन योजना से गरीबों की इलेक्ट्रॉनिक भुगतान की क्षमता में बड़ा बदलाव आया है."

ट्रांसफॉर्म इंडिया का जिक्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दौरान ट्रांसफॉर्म इंडिया के बारे में भी बताया. पीएम मोदी ने कहा, ''हमने ट्रांसफॉर्म इंडिया की तरफ अपने सफर की शुरुआत की है. दुनिया की कुल आबादी के छठवें हिस्से के साथ अगर भारत ट्रांसफॉर्म करता है, तो दुनिया भी बदल जाएगी.

पीएम मोदी ने कहा, "यह सफर लंबा है. लेकिन अब तक की तरक्की बताती है कि हम अपनी मंजिल तक पहुंच जाएंगे. मैं आप लोगों से गुजारिश करता हूं कि इस सफर में हमारे साथ जुड़ें.

इस सफर में अाप न सिर्फ अपनी कंपनी की बैलेंस शीट को बेहतर कर पाएंगे, बल्कि बेहतर भारत, बेहतर अमेरिका और बेहतर दुनिया बनाने में भी अपना योगदान दे पाएंगे.'' पीएम मोदी ने बताया कि ट्रांसफॉर्म इंडिया गरीबी दूर करने और करप्शन मिटाने का मिशन है.

First published: 8 June 2016, 13:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी