Home » इंटरनेशनल » Why trade war between USA and China has started? world’s biggest economies trade war
 

दुनिया की दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच ट्रेड वॉर शुरू हो चुका है ?

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 March 2018, 18:29 IST

अमेरिका और चीन के बीच चल रहे विवाद के कारण ग्लोबल फाइनेंशियल मार्केट में शुक्रवार को बड़ी गिरावट देखी गई. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने गुरुवार को चीन से 60 अरब डॉलर के आयात पर टैरिफ की घोषणा की, इसके बाद जापान की निकी 4.1 फीसदी गिर गई, जबकि शंघाई के शेयरों में 3.3 फीसदी गिरावट आयी. इसके अलावा ऑस्ट्रेलियाई शेयरों में 2.1 फीसदी की गिरावट देखी गई.

ट्रम्प प्रशासन ने गुरुवार को चीन पर व्यापार प्रतिबंधों की घोषणा की. राष्ट्रपति ट्रम्प ने ऐसे ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं जो चीन से 1,300 इस्पात और एल्यूमीनियम उत्पादों या 60 अरब डॉलर के आयात पर शुल्क लगा सकता है.

 

एसोसिएटेड प्रेस की रिपोर्ट की रिपोर्ट के अनुसार व्हाइट हाउस ने आरोप लगाया कि चीन अमेरिका की संवेदनशील तकनीक और कारोबारी सीक्रेट हासिल करने की कोशिश कर रहा है. चीन के एल्युमिनियम और स्टील पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने के बाद ट्रंप ने अमेरिका में चीनी कंपनियों के निवेश को भी सीमित करने का एलान किया. ट्रंप का कहना है कि चीन खास रणनीति के तहत अमेरिका में कुछ सेक्टर्स में निवेश कर रहा है और गोपनीय जानकारी हासिल करना चाहता है.

चीन को दोस्त के रूप में पेश करते हुए, ट्रम्प ने गुरुवार को कहा, "हमने चीन से बात कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि अनुचित व्यापार से अमेरिकी नौकरियों को नुकसान हो रहा है. ट्रम्प का कहना है कि इसी मुद्दे पर लोगों ने उन्हें 2016 में राष्ट्रपति चुना था.

इसके जवाब में एक बयान में चीनी वाणिज्य मंत्रालय ने कहा बीजिंग ने कहा कि वह "कारोबारी युद्ध से बिल्कुल नहीं डरता." चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने भी ऐसे 128 प्रोडक्ट्स की सूची तैयार की है जो अमेरिका से खरीदे जाते हैं. इनमें मेवे, वाइन और सूअर का मांस जैसी चीजें शामिल हैं. इनकी कीमत करीब 3 अरब डॉलर है. चीन का कहना है कि वह भी अमेरिकी उत्पादों में शुल्क बढ़ाएगा.

First published: 23 March 2018, 18:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी