Home » आईपीएल » BCCI President Sourav Ganguly IPL 2020 Team India salary Cut
 

सौरव गांगुली ने दिया बड़ा बयान, बोले- अगर रद्द हुआ IPL 2020 तो कटेगी टीम इंडिया के खिलाड़ियों की सैलरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 May 2020, 13:42 IST
Sourav Ganguly

कोरोना वायरस (Coronavirus) के असर के कारण अभी सभी तरह के क्रिकेट टूर्नामेंट या तो स्थगित कर दिए गए हैं या फिर उन्हें रद्द किया जा रहा है. आईपीएल (IPL) भी उन टूर्नामेंट में से एक हैं जिसे इस वायरस के कारण अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किया गया है. माना जा रहा है कि आईपीएल 2020 (IPL 2020) का आयोजन इस साल सितबंर और अक्टूबर के बीच हो सकता है, कई मीडिया रिपोर्ट में इसका दावा भी किया गया है. लेकिन उसी दौरान विश्व कप (ICC T20 World Cup 2020) का भी आयोजन प्रस्तावित है, ऐसे में कयास लगाया जा रहा है कि आईपीएल 2020 (IPL 2020) को इस साल के लिए रद्द किया जा सकता है. अगर ऐसा हुआ तो बीसीसीआई (BCCI) को इसका काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है. वहीं अब टीम इंडिया (Team India) के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने कहा है कि अगर इस साल आईपीएल का आयोजन नहीं हुआ तो बोर्ड को करोडो़ का नुकसान उठाना पड़ सकता है.

आईपीएल 2020 का आयोजन 29 मार्च से होना था लेकिन कोरोना वायरस के असर को देखते हुए बीसीसीआई ने पहले इस 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया था. वहीं इसके बाद देश में जब पहले चरण का लॉक डाउन का ऐलान किया गया तो हालात और खराब हो गए. ऐसे में बीसीसीआई के पास कोई और चारा नहीं बचा था.


सौरव गांगुली ने इस बारे में मिड-डे अखबार से बात करते हुए कहा कि अगर इस साल आईपीएल का आयोजन नहीं होता है तो बोर्ड को करीब चार हजार करोड़ का नुकसान होगा और ऐसी स्थिति में खिलाड़ियों की सैलरी भी कट सकती है. उन्होंने कहा,"हमें अपनी वित्ती स्थिति का आकलन करना होगा कि हमारे पास कितना पैसा है और उसके बाद हम इस बारे में कोई निर्णय लेंगे. यदि आईपीएल का आयोजन नहीं होता है तो हमें तकरीबन 4 हजार करोड़ का नुकसान होगा जो कि बहुत बड़ा है. यदि आईपीएल का आयोजन होता है तो किसी तरह की कटौती की नौबत नहीं आएगी और हम स्थिति को संभाल पाएंगे."

बता दें, जहां सभी बोर्ड एक एक करके अपने खिलाड़ियों और स्टाफ की सैलरी काट रहे हैं ऐसे समय में बीसीसीआई ने खिलाड़ियों की सैलरी ना काटने का फैसला लिया है. बोर्ड ने बीते दिनों ही खिलाड़ियों की सैलरी उनके खाते में दे दी है. बोर्ड के साथ हुए सालाना कॉन्ट्रैक्ट के अनुसार ए, बी और सी ग्रेड के खिलाड़ियों को क्रमश: 5, 3 और 1 करोड़ रुपये बतौर सैलरी भुगतान किया जाता है. अगर स्थिति जल्द ही सही नहीं हुई तो इन खिलाड़ियों की सैलरी में भारी कटौती हो सकती है.

आखिर क्या है BCCI की सफलता का राज और PCB क्यों हुई पीछे, पाकिस्तान के दिग्गज ने बताया कारण

First published: 15 May 2020, 13:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी