Home » आईपीएल » csk captain MS dhoni says age is a number but fitness is the succes of winning the trophy of IPL 2018
 

अब चेन्नई को बूढ़ों की फौज मत कहना, धोनी ने दे दिया है करारा जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 May 2018, 9:58 IST

IPL 2018 की बूढ़ी टीम मानी गई चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल के सबसे युवा टीम को धराशाई कर खिताब पर कब्जा जमा लिया. रिपोर्ट के मुताबिक चेन्नई सुपर किंग्स की टीम में आधे से ज्यादा उम्रदराज खिलाड़ी थे. बावजूद इसके सीएसके आईपीएल 11 की चैंपियन बनकर उभरी.

सीएसके की जीत के बाद टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी अपने इरादे जाहिर करते हुए कहा है कि खेल में उम्र नहीं, बल्कि फिटनेस मायने रखती है. बता दें कि चेन्नई सुपर किंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को आठ विकेट से हराकर तीसरी बार आईपीएल खिताब पर कब्जा जमाया है.

 

इस खिताबी मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए छह विकेट पर 178 रन बनाए. 179 रनों के जवाब में चेन्नई सुपर किंग्स के 37 वर्षीय ऑलराउंडर शेन वॉटसन ने नाबाद 117 रनों की पारी खेली, जिसकी मदद से सीएसके दो विकेट पर 181 रन बनाकर चैंपियन बनी.

टीम के कप्तान और एमएस धोनी से जब मैच के बाद टीम में अधिक उम्र के खिलाड़ियों की मौजूदगी के बारे में सवाल किया गया, तो इस बात का जवाब 36 वर्षीय धोनी ने बड़ी ही सहजता से दिया. धोनी ने कहा, "उम्र केवल एक नंबर है, लेकिन खिलाड़ी का पूरी तरह फिट होना जरूरी है."

एमएस धोनी ने कहा, "हम उम्र के बारे में बात करते हैं, लेकिन फिटनेस अधिक महत्वपूर्ण है. रायडू 33 साल का है, लेकिन यह वास्तव में मायने नहीं रखती. अगर आप किसी भी कप्तान से पूछोगे, तो वे ऐसा खिलाड़ी चाहते हैं जो चपल हो."

ये भी पढ़ेंः धोनी को फिर से दिल देना है तो इस वीडियो को जरूर देखिए

उन्होंने ये भी कहा कि हम अपनी कमजोरियों से एकदम वाकिफ थे. अगर वॉटसन डाइव लगाने की कोशिश करता, तो वह चोटिल हो सकता था इसलिए हमने उसे ऐसा नहीं करने के लिए कहा. धोनी ने कहा, "उम्र केवल नंबर है, लेकिन आपको पूरी तरह से फिट होना चाहिए."

 

धोनी ने आगे कहा, "जब आप फाइनल में पहुंचते हो तो हर कोई अपनी भूमिका जानता है. जब आप क्षेत्ररक्षण करते हो तो आपको अपनी रणनीति के अनुसार सामंजस्य बिठाना पड़ता है. हमारे बल्लेबाज अपनी शैली से परिचित हैं. अगर किसी को यह मुश्किल लगती, तो अगले बल्लेबाज के लिए भी आसान नहीं होता."

ये भी पढ़ेंः रन वर्षा के बाद हुई IPL में धन वर्षा, जानिए किसको मिले कितने करोड़

धोनी बोले, "हमें पता था कि उनकी टीम में भुवनेश्वर कुमार और राशिद खान दो अच्छे गेंदबाज के रूप में हैं, जो हम पर दबाव बना सकते हैं. इसलिए मैं मानता हूं कि हमारी बल्लेबाजी बहुत अच्छी रही. लेकिन हमें विश्वास था कि बीच के ओवरों में हम अच्छे रन जुटा सकते हैं. हम ऐसा करने में कामयाब रहे और टूर्नामेंट जीते."

First published: 28 May 2018, 9:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी