Home » आईपीएल » IPL 2018: Bombay High Court issue notice to MCA for IPL matches to shift in Pune
 

IPL 2018: चेन्नई सुपर किंग्स के घरेलू मैदान पुणे पर भी संकट के बादल

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 April 2018, 19:24 IST

बॉम्बे हाईकोेर्ट ने शुक्रवार को महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन (एमसीए) को नोटिस जारी किया है. कोर्ट ने पूछा है कि पुणे में होने वाले आईपीएल 11 के मैचों के लिए स्टेडियम का रखरखाव करने के लिए पानी की व्यवस्था कैसे करोगे. इसके लिए कोर्ट ने एमसीए से एक हफ्ते में जवाब मांगा है.

बता दें कि तमिलनाडु में कावेरी जल विवाद को लेकर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए चेन्नई सुपर किंग्स के घरेलू मैचों को पुणे शिफ्ट कर दिया गया है.

दो साल बाद आईपीएल 11 में वापसी कर चुकी चेन्नई सुपर किंग्स की टीम केवल एक मैच ही अपने घरेलू मैदान पर खेल पाई थी. जिसमें उसने कोलकाता नाइट राइडर को हराया था.

बॉम्बे हाईकोर्ट ने आईपीएल मैचों को चेन्नई से पुणे शिफ्ट किए जाने को लेकर एमसीए से कहा कि वो कोर्ट को समझाए कि मैचों के लिए मैदान को तैयार करने और उसके रखरखाव के लिए पानी का प्रबंध कैसे करेगा. कोर्ट ने जवाब देने के लिए एमसीए को 18 अप्रैल तक का समय दिया है.

कोर्ट ने यह आदेश सामाजिक संस्था लोकसत्ता की जनहित याचिका पर जारी किया है. याचिका में कहा गया है कि पुणे को केवल पवन नदी से ही पानी की आपूर्ति होनी चाहिए.आईपीएल मैचों के लिए मैदान को तैयार करने के लिए बहुत पानी की आवश्यकता होगी.

ऐसे में क्रिकेट मैदान के लिए पानी की आपूर्ति  होने से पहले से प्रचलित सूखा की समस्या को और प्रभावित करेगी. बता दें कि बॉम्बे हाईकोर्ट ने साल 2016 में भी लोकसत्ता की ऐसी ही एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में आईपीएल के 9वें संस्करण के सभी मैचों को कहीं और शिफ्ट करने के आदेश जारी किए थे.

First published: 13 April 2018, 19:24 IST
 
अगली कहानी