Home » आईपीएल » IPL 2018, CSK vs MI:ms dhoni stump out and quick return to Crease against spiner Mayank Markande no chance ishan kishan
 

IPL 2018, CSK vs MI: धोनी की स्टंपिंग से बचना ही नहीं उनको स्टंप करना भी मुश्किल है

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 April 2018, 22:51 IST

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और आईपीएल टीम चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान एम एस धोनी की विकेटकीपिंग से हर कोई वाकिफ है.

धोनी जब विकेट के पीछे होते हैं, तो बल्लेबाज के पास क्रीज से बाहर निकलने का कोई मौका नहीं होता है, क्योंकि अगर बल्लेबाज क्रीज के बाहर शॉट मारने गया और गेंद मिस हो गई, तो धोनी की स्टपिंग से बचना मुश्किल हैं.

वह ऐसा कारनामा कई बार कर चुके हैं. धोनी के नाम सबसे तेज स्टंपिंग करने का रिकॉर्ड भी दर्ज है. इतना ही नहीं धोनी विकेट के पीछे काफी फुर्तीले रहते हैं. टीम के लिए बहुत रन भी बचाते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि धोनी जितने विकेट के पीछे तेज होते हैं, उतने ही तेज वो बल्लेबाजी करने के दौरान विकेट के सामने भी होते हैं.

उनको विकेट के सामने स्टंपिग करना हर किसी के बस की बात नहीं है. ऐसा ही कुछ नाजार दिखा आज यानि शनिवार को मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेले जा रहे मैच में.

इस मैच में मुंबई के विकेटकीपर ईशान किशन के पास धोनी कोआउट करने का मौका था. लेकिन धोनी इस स्पीड से क्रीज में वापस लौटे, कि ईशान किशन को धोनी को स्टंप करने का मौका ही नहीं मिला, ईशान किशन केवल हाथ मलते रह गए.

दरअसल पारी के 16वें ओवर में धोनी ने मयंक मार्कंडे की गेंद पर आगे बढ़कर शॉट खेलने की कोशिश की. लेकिन धोनी गेंद को मिस गए. गेंद विकेटकीपर ईशान किशन के हाथों में चली गई.

लेकिन जब तक ईशान किशन गेंद को पकड़क स्टंप से लगाते, उससे पहले ही धोनी ने फुर्ती दिखाते हुए क्रीज में पहुंच गए. धोनी ने ईशान किशन के पास गए मौके को छीन लिया. धोनी की इस तेजी को देखकर ईशान किशन भी हैरान रह गए.

बता दें कि इस मैच में धोनी ने 21 गेंद पर 3 चौके और एक छक्के की मदद से 26 रन बनाए. वहीं चेन्नई ने मुंबई के सामने जीत के लिए 170 रनों का लक्ष्य रखा है.

First published: 28 April 2018, 22:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी