Home » आईपीएल » IPL 2018: CSK will be held as per the schedule. IPL should not be dragged political controversies: Rajeev Shukla
 

'कावेरी जल विवाद की वजह से IPL मैचों पर नहीं पड़ेगा असर'

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 April 2018, 16:09 IST

तमिलनाडु में जारी कावेरी जल विवाद का असर आईपीएल मैचों पर होने की आशंका जताई जा रही है. हालांकि आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्ला ने इस तरह की खबरों को पूरी तरह से खारिज कर दिया है. राजीव शुक्ला ने कहा है कि कावेरी जल विवाद का तमिलनाडु में होने वाले मैचों पर किसी तरह का कोई असर नहीं पड़ेगा. चेन्नई सुपर किंग्स के मैचों के आयोजन में किसी भी तरह का बदलाव नहीं किया जाएगा.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, राजीव शुक्ला ने कहा है कि चेन्नई सुपर किंग्स के घरेलू मैचों में किसी तरह का बदलाव नहीं किया जाएगा. तमिलनाडु में आयोजित होने वाले मैचों पर कावेरी जल विवाद का कोई असर नहीं होगा. मैचों के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जाएंगे. उन्होंने कहा कि आईपीएल को राजनीतिक विवाद में खींचना सही नहीं है. वहीं तमिलनाडु सरकार ने मैचों के आयोजन को लेकर पूरी सुरक्षा का आश्वासन दिया है.

बता दें कि अभिनेता और नेता रजनीकांत ने कावेरी जल विवाद को लेकर लोगों से आईपीएल नहीं देखने की अपील की थी. उन्होंने कहा था कि जब कावेरी विवाद चल रहा है तो आईपीएल देखना एक शर्मिंदगी है. इसके साथ ही रजनीकांत आईपीएल टीम चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाड़ियों से भी समर्थन करने की अपील कर चुके हैं. उन्होंने कहा कि चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाड़ी मैच में काली पट्टी बांधकर खेलें. इसके साथ ही कहा है कि बीबीसीआई और आईपीएल को लोगों की भावना को समझना चाहिए.

रजनीकांत के अलावा कई अन्य नेता भी लोगों से आईपीएल मैचों से दूरी बनाने की अपील कर चुके हैं. अम्मा मक्कल मुनेत्र कषगम (एएमएमके) नेता टी टी दिनाकरण ने कहा कि किसानों की मांगो का समर्थन करने के लिए लोगों को आईपीएल मैचों का वहिष्कार करना चाहिए.

गौरतलब है कि तमिल समर्थक संगठन आईपीएल मैचों के आयोजन का विरोध कर रहे हैं. वहीं तमिलनाडु के किसान कावेरी जल प्रबंधन बोर्ड का गठन करने की मांग कर रहे हैं. किसान प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानो के साथ ही की राजनीतिक संगठन भी कावेरी जल प्रबंधन बोर्ड के गठन को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों का कहना है कि आईपीएल मैचों का आयोजन कराने की कोई जरूरत नहीं है.

First published: 9 April 2018, 15:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी