Home » आईपीएल » IPL 2018. KKR vs CSK: Dhoni Review System to chris lynn, Result OUT, watch video
 

IPL 2018: DRS को धोनी रिव्यू सिस्टम ऐसे ही नहीं कहा जाता है, देखें वीडियो

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 May 2018, 13:11 IST
(IPL )

क्रिकेट का कोई भी क्षेत्र हो एमएस धोनी का कोई सानी नहीं है. धोनी की कप्तानी की दुनिया कायल है. उनको एक चतुर कप्तान माना जाता है. धोनी की विकेटकीपिंग की दुनिया कायल है. बल्लेबाजी करते समय गेंदबाज उनको गेंद डालते समय सौ बार सोचते हैं. तो वहीं उनके जैसा मैच फिनिशर दुनिया में नहीं है.

वह अपने हिसाब से मैच को खत्म करते हैं. इतना ही नहीं डीआरएस को धोनी रिव्यू सिस्टम कहा जाता है. बहुत कम बार देखा गया है जब धोनी ने डीआरएस लिया हो, और वह गलत साबित हुआ हो. अगर धोनी ने डीआरएस की मांग कर दी तो फिर बल्लेबाज के बचने के चांस एक दो फीसदी ही रह जाते हैं. माही ने एक बार से साबित कर दिया कि क्यों उनको धोनी रिव्यू सिस्टम कहा जाता है.

दरअसल चेन्नई सुपर किंग्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए कप्तान एमएस धोनी के 43 रनों की बदौलत कोलकाता के सामने जीत के लिए 178 रनों का लक्ष्य रखा.

केकेआर ने पारी की शुरुआत करने के लिए क्रिस लिन और सुनील नारायण को भेजा. वहीं पारी के पहले ओवर में एमएस धोनी ने गेंद एनडिगी को थमाई.

क्रिस लिन ने पारी के पहले ओवर की तीसरी और चौथी गेंद पर लगातार 2 छक्के जड़ दिए. इसके बाद ओवर की आखिरी गेंद लिन के बल्ले का किनारा लेकर स्लिप में खड़े शेन वॉटसन के हाथों में जा समाई. गेंदबाज ने कैच की अपील की. लेकिन अंपायर ने उसको नकार दिया.

इसके बाद धोनी ने डीआरएस के लिए अपील कर दी. रिप्ले में साफ दिखाई दे रहा था कि गेंद पहले बल्ले का किनारा लेने के बाद फिर पैड से टकराई. उसके बाद स्लिप में वॉटसन के पास पहुंची. आखिर में अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा. क्रिस लिन 12 रन बनाकर आउट हो गए.

ऐसा पहली बार नहीं है. जब धोनी ने लिया डीआरएस सही साबित हुआ है. बल्कि बहुत कम बार देखा गया है कि धोनी ने जब डीआरएस लिया हो और वह गलत साबित हो गया हो.

First published: 3 May 2018, 23:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी