Home » आईपीएल » IPL 2020 Auction: Before Auction IPL Franchise Purse and team Slot
 

IPL 2020 Auction:नीलामी से पहले जानें किस टीम के पर्स में बचे हैं कितने पैसे ? और कितने खिलाड़ियों का स्लॉट हैं बाकी

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 December 2019, 14:42 IST

IPL 2020 Auction: कुछ ही देर बार कोलकाता में खिलाड़ियों की नीलामी शुरू होने वाली है. इस नीलामी के लिए कुल 971 खिलाड़ियों ने आवेदन दिया जिसमें से 332 खिलाड़ियों को शॉर्टलिस्ट किया गया है. इस बार सभी टीमें कुल मिलाकर 73 खिलाड़ियों को ही खरीदा जा सकता है जिसमें 29 विदेशी खिलाड़ियों को खरीदा जा सकता है.

नीलामी से पहले सभी आईपीएल फ्रेंचाइजियों ने खिलाड़ियों को रिटेन और रिलीज किया था. चेन्नई सुपर किंग्स ने अपनी कोर टीम में कोई बदलाव नहीं किया था और सबसे ज्यादा खिलाड़ी उसी ने रिटेन किए थे. वहीं कई खिलाड़ियों को कुछ टीमों ने ट्रेडिंग विंडो के दौरान ट्रेड करके अपनी टीम में शामिल किया था. ऐसे में हम आपको इस खबर में बता रहे कि किस टीम के पर्स में कितने पैसे हैं और वो कितने खिलाड़ियों को अपनी टीम में शामिल कर सकती है.

मुंबई इंडियंस

मुंबई इंडियंस के पर्स में कुल 13.05 करोड़ उपलब्ध हैं. वहीं मुंबई ने इस बार कुल 18 खिलाड़ियों को रिटेन किया है जिसमें 6 विदेशी खिलाड़ी है. मुंबई ने खिलाड़ियों को रिटेन और ट्रेड के दौरान कुल 71.95 करोड़ रूपये खर्च किए थे. मुंबई इंडियंस के पास कुल 9 स्लॉट खाली है जिसमें फ्रेंचाइजी सात भारतीय और दो विदेशी खिलाड़ियों को खरीद कर सकती है.

चेन्नई सुपर किंग्स

चेन्नई सुपरकिंग्स के पर्स में 14.60 करोड़ रूपये मौजूद है. चेन्नई ने कुल 20 खिलाड़ियों को रिटेन किया था जिसमें 6 विदेशी खिलाड़ी है. चेन्नई से खिलाड़ियों को रिटेन करने में कुल 70.40 करोड़ रूपये खर्च किए थे. ऐसे में चेन्नई कुल 7 खिलाड़ियों को अपनी टीम में शामिल कर सकती है जिसमें 2 विदेशी खिलाड़ी हो सकते है.

सनराइजर्स हैदराबाद

सनराइजर्स हैदराबाद ने नीलामी से पहले कुल 18 खिलाड़ियों को रिटेन किया है जिसमें 6 विदेशी खिलाड़ी है. हैदराबाद के पर्स में अब कुल 17 करोड़ रूपये बचे हुए है. वहीं हैदराबाद ने नीलामी के दौरान खिलाड़ियों को रिटेन करने में कुल 68 करोड़ रूपये खर्च किए थे. हैदराबाद के पास कुल 9 स्लॉट खाली है जिसमें फ्रेंचाइजी सात भारतीय और दो विदेशी खिलाड़ियों को खरीद कर सकती है.

किंग्स इलेवन पंजाब

किंग्स इलेवन पंजाब ने कुल इस बार 14 खिलाड़ियों को रिटेन किया था साथ ही दो खिलाड़ियों को ट्रेड किया था. ऐसे में पंजाब के पास कुल 16खिलाड़ी है जिसमें चार विदेशी खिलाड़ी है. पंजाब ने ट्रेड के दौरान कुल 42.30 करोड़ रूपये खर्च किए थे. ऐसे में फ्रेंचाइजी के पास कुल 42.70 करोड़ रूपये मौजूद है. पंजाब के पास कुल 13 खिलाड़ियों का स्लॉट खाली है जिसमें वो 9 भारतीय खिलाड़ी और 4 विदेशी खिलाड़ियों को खरीद सकती है. नीलामी में उतरने वाली सभी टीमों से ज्यादा पंजाब के पास पैसा है.

कोलकाता नाईट राइडर्स

कोलकाता नाईट राइडर्स ने इस बार कुल 14 खिलाड़ियों को रिटेन किया है जिसमें चार विदेशी खिलाड़ी है. कोलकाता ने खिलाड़ियों को रिटेन और ट्रेड करने के दौरान कुल 49.35 करोड़ रूपये खर्च किए थे. ऐसे में फ्रेंचाइजी के पास कुल 35.65 करोड़ रूपये मौजूद है और वो इस बार कुल 15 खिलाड़ियों को खरीद सकती हैं जिसमें कुल 11 भारतीय और 4 विदेशी खिलाड़ी हो सकते हैं.

दिल्ली कैपिटल्स

दिल्ली कैपिटल्स ने खिलाड़ियों को रिटेन और ट्रेड करने में कुल 57.15 करोड़ रूपये खर्च किए थे. दिल्ली के पास अभी 14 खिलाड़ी है जिसमें कुल 3 विदेशी खिलाड़ी है. वहीं दिल्ली कैपिटल्स के पर्स में अभी 27.85 करोड़ रूपये मौजूद है. दिल्ली को अपना स्लॉट पूरा करने के लिए कुल 16 खिलाड़ियों की और खरीद करनी होगी जिसमें 11 भारतीय और 5 विदेशी खिलाड़ी है.

राजस्थान रॉयल्स

राजस्थान रॉयल्स ने ट्रेड के दौरान दिल्ली से अजिंक्य रहाणे का ट्रेड किया था. राजस्थान रॉयल्स ने इस बार कुल 14 खिलाड़ियों को रिटेन किया है जिसमें चार विदेशी खिलाड़ी है. राजस्थान ने खिलाड़ियों को रिटेन और ट्रेड करने में कुल 56.10 करोड़ रूपये खर्च किए थे. ऐसे में राजस्थान के पास कुल 28.90 करोड़ रूपये पर्स में मौजूद है. राजस्था नीलामी में इस बार कुल 15 खिलाड़ियों को खरीद सकती हैं जिसमें कुल 11 भारतीय और 4 विदेशी खिलाड़ी हो सकते हैं.

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर एक बार भी आईपीएल का खिताब अपने नाम नहीं कर पाई है. बैंगलौर ने इस बार कुल 13 खिलाड़ियों को रिटेन किया है जिसमें कुल 2 विदेशी खिलाड़ी है. बैंगलौन ने नीलामी से पहले खिलाड़ियों को रिटेन और ट्रेड में कुल 57.10 करोड़ रूपये खर्च किए थे. ऐसे में फ्रेंचाइजी के पास कुल अब 27.90 करोड़ रूपये पर्स में मौजूद है. बैंगलौर इस बार नीलामी में कुल 18 खिलाड़ियों को खरीद सकती है जिसमें 12 भारतीय जबकि 6 विदेशी खिलाड़ी हो सकते हैं. बैंगलौर को इस बार सबसे अधिक खिलाड़ियों की खरीद करनी है.

First published: 19 December 2019, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी