Home » आईपीएल » IPL 2020: Governing Council meet may discuss on match Timing
 

IPL 2020: गवर्निंग काउंसिल की बैठक में हो सकता है मैचों की टाइमिंग बदलने को लेकर फैसला

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 January 2020, 11:53 IST

BCCI Meeting: IPL 2020 के लिए बीते साल 19 दिसंबर को खिलाड़ियों की नीलामी हो चुकी है. वहीं सोमवार 27 जनवरी को पूर्व टेस्ट बल्लेबाज बृजेश पटेल की अध्यक्षता में आईपीएल संचालन परिषद(IPL Governing Council Meeting) की अहम बैठक होनी है. माना जा रहा है कि इस बैठक में आईपीएल 2020(IPL 2020) के कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया जा सकता है. वहीं खबरों की मानें तो, लोढ़ा सिफारिशों के अनुसार आईपीएल फाइनल और भारत के अगले अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में कम से कम 15 दिनों का अंतर होना चाहिए इस बात पर भी चर्चा हो सकती है.

बता दें, बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली(BCCI President Sourav Ganguly), बीसीसीआई के सचिव जय शाह समेत बीसीसीआई के तमाम बड़े अधिकारी इस बैठक में हिस्सा लेंगे. खबरों के अनुसार, सोमवार को होने वाली बैठक में साल 2021 के संस्करण में खिलाड़ियों की संख्या, टीमों की संख्या बढ़ाकर 10 किए जाने की बात पर भी चर्चा होगी.

बीते दिनों ऐसी खबरें आई थी कि आईपीएल प्रसारणकर्ता चाहता है कि मैच के समय में बदलाव किया जाए. प्रसारणकर्ता स्टार स्पोर्टस चाहता है कि आईपीएल मैचों की टाइंमिंग रात 8 बजे की बजाए शाम सात बजे या फिर साधे सात बजे किया जाए.

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम ना छापने की शर्त पर न्यूज एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए कहा,'प्रसारणकर्ता चाहते हैं कि मैच जल्दी शुरू हों और साथ ही रविवार को दो मैच नहीं हों. इस मुद्दे पर चर्चा होगी. संचालन परिषद की बैठक में पूर्ण कार्यक्रम पर चर्चा होने की संभावना है.'

राजधानी दिल्ली में सोमवार को होने वाली बैठक में बीसीसीआई टीम इंडिया के चीफ सेलेक्टर(Team India Chief Selector) का चयन करने वाली तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) का भी गठन कर सकती है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अभी तक सीएसी के लिए गौतम गंभीर और सुलक्षणा नाईक की दावेदारी मजबूत मानी जा रही है.

लेकिन इन दोनों को जोर का झटका लग सकता है क्योंकि गौतम गंभीर(Gautam Gambhir) अभी सांसद है और उन्होंने 2018-19 सत्र में संन्यास लिया है जबकि दूसरी तरफ इसी सत्र के दौरान सुलक्षणा नाईक घरेलू क्रिकेट में मुकाबला खेलती नजर आई थी.  वहीं लोढ़ा समेटी की सिफारिशों के मुताबिक किसी भी खिलाड़ी को सीएसी का सदस्य तभी बनाया जा सकता है जब उसने कम से कम पांच साल पहले संन्यास का ऐलान किया हो.

रोहित शर्मा टीम इंडिया के लिए बने मुसीबत! न्यूजीलैंड के खिलाफ है बेहद शर्मनाक रिकॉर्ड, देखें आंकड़े

First published: 27 January 2020, 11:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी